पर्यटन गतिविधियों ल बढ़ावा देहे प्रदेश म लउहे उदीम करे जाही

ट्रायबल टूरिज्म सर्किट बर अंताजन सौ करोड़ पास


screenshot_2016-10-15-21-59-05_com-google-android-apps-docs_1476548970281
छत्तीसगढ़ राज्य म सांस्कृतिक, ऐतिहासिक धार्मिक अउ प्राकृतिक विविधता ले सम्पन्न हे। प्रदेश म पर्यटन के अपार संभावना हे। पर्यटन गतिविधियों ल बढ़ावा देहे खातिर प्रदेश अउ प्रदेश के बाहर ले अवइया पर्यटक मन ल जरूरी सुविधा देहे खातिर पर्यटन योजना मन उपर अउहे उदीम करे जात हे। प्रदेश के आदिवासी संस्कृति ले पर्यटक मन ल परिचित कराये बर ट्रायबल टूरिज्म सर्किट के विकास बर भारत सरकार पर्यटन मंत्रालय ले 2015-16 म 99 करोड़ 94 लाख रूपया पास कराये गए हे। ये जबर उदीम राज्य शासन के आय। एकर तहत जशपुर, कुनकुरी, मैनपाट, अम्बिकापुर, महेशपुर, रतनपुर कुरदर, सरोधा दादर, गंगरेल, कोण्डागांव, नथियानवागांव, जगदलपुर, चित्रकोट अउ तीरथगढ़ ल संघारे गए हे। एमा आदिवासी थीम ल लेवत ये सर्किट म पर्यटन संरचना मन ल अउ सुविधा मन के विकास करे जात हे।
ये प्रकार ले राज्य के कई पर्यटन स्थल मन के विकास करे जावत हे। जेमा जिला बस्तर (जगदलपुर) म पर्यटन सूचना केन्द्र बनवाये खातिर 32 लाख रूपया कलेक्टर बस्तर ल भेजे गए हे। जगदलपुर म लामनी पार्क अउ चौक-चौराहा ल सुन्दर बनाये खातिर 25 लाख रूपया, तीरथगढ़ म मोटल निर्माण अउ चित्रकोट, तीरथगढ़ म चेनलिंक फेंसिग के काम कराये गये हे। जिला महासमुंद के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल सिरपुर म कांवर यात्री मन बर अस्थायी टेन्ट बनाये गए हे। सिरपुर म सामुदायिक भवन निर्माण बर 30 लाख 50 हजार रूपया पास होये हे। इँहा डेस्टिनेशन विकास कार्य के म पाथवे, सीटिंग अरेंजमेंट, सुलभ शौचालय, टायलेट ब्लॉक अउ सीटिंग व्यवस्था के काम पूरा कर लेहे गए हे। बलौदाबाजार जिला म केन्द्रीय परियोजना गिरौधपुरी गंतव्य स्थल के विकास बर गिरौधपुरी पर्यटक शॉप अउ श्रद्धालु मन बर डे-शेल्टर के निर्माण, ओपन एम्फीथिएटर, सौन्दर्यकरण, टायलेट अउ सोलर प्रकाशीकरण बर 4 करोड़ 26 लाख 37 हजार रूपया पास करे गये हे।

Post a Comment

0 Comments