मुख्यमंत्री हर नक्सली मन ले करिस बंदूक छोड़े अऊ शांतिपूर्ण विकास के मुख्यधारा ले जुड़े के गिलौली





मुख्यमंत्री हर नक्सल पीड़ित बीजापुर जिला ल दीस 502 करोड़ के 55 निर्माण कार्य के सौगात


रायपुर, 30 जनवरी 2017। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह एक पइत फेर नक्सली मन ले हिंसा के रद्दा अऊ बंदूक छोड़े अऊ शांतिपूर्ण विकास के मुख्यधारा ले जुड़ने के आव्हान करिस। डॉ. सिंह ह कहिन के हिंसा अऊ आतंक ले कोनो समस्या के हल नइ निकल सके। सिरिफ शांतिपूर्ण विकास के रद्दा ले ही देश अऊ समाज म खुशहाली आ सकथे। कहूं माओवादी या नक्सली बंदूक छोड़ंय त हम ओ मन ल गला लगाय ल घलोक तैयार रहिबोन। मुख्यमंत्री आज मंझनिया राज्य के नक्सल हिंसा पीड़ित बीजापुर जिला के विकासखण्ड मुख्यालय भैरमगढ़ अऊ जिला मुख्यालय बीजापुर म आयोजित कार्यक्रम मन म बड़का जनसभा मन ल सम्बोधित करत रहिन। उमन कहिन के कहूं सरकार जनता के सुविधा बर सड़क, पुल-पुलिया, स्कूल अऊ अस्पताल बनवावत हे, लोगन मन बर पेयजल अऊ बिजली के व्यवस्था करत हे तो येमा कोनो ल आपत्ति नइ होनी चाही। नक्सली ए विकास कार्य मन के विरोध काबर करत हें?


डॉ. सिंह हर ए समें म दुनों कार्यक्रमों म बीजापुर जिला के जनता के सुविधा बर अंदाजन 502 करोड़ 70 लाख रूपए के 55 निर्माण कार्य के लोकार्पण, भूमिपूजन अऊ शिलान्यास करिस। एमां राष्ट्रीय राजमार्ग नंबर 63 के अंतर्गत भैरमगढ़ ले बीजापुर तक 48 किलोमीटर के नवनिर्मित सड़क घलोक सामिल हावे, जेखर निर्माण म 184 करोड़ 54 लाख रूपया के लागत आ हे। मुख्यमंत्री हर भैरमगढ़ म 13 करोड़ 75 लाख रूपए के लागत ले निर्मित 500 सीट वाले एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय परिसर के घलोक लोकार्पण करिस। लोकार्पण समारोह म मुख्यमंत्री ल आदिवासी मन के परम्परागत तीर-धनुष भेंटकर के सम्मानित करे गीस। मुख्यमंत्री हर कहिन के बीजापुर जिला म हाल के बछर म ए जिला म विकास के बहुत अकन महत्वपूर्ण काम होए हे, जेखर लाभ इहां के जनता मन ल मिलत हे। वनमंत्री श्री महेश गागड़ा अऊ लोकसभा सांसद श्री दिनेश कश्यप घलोक ये कार्यक्रम म उपस्थित रहिन। उमन सभा ल सम्बोधित करत करत कहिन कि बीजापुर के लइका शिक्षा म आगू बढ़त हे, बस्तर बटालियन म बीजापुर जिला के 240 बच्चा मन के चयन होय हे। ये लइका मन ए क्षेत्र म शांति के संदेशवाहक अऊ विकास के रक्षक बनहीं। उमन कहिन कि सबके सहयोग ले ए क्षेत्र म घलोक विकास के सपना लउहे साकार होही। बीजापुर विकसित, स्वच्छ अऊ स्वस्थ जिला बनही।






मुख्यमंत्री हर बीजापुर के जनसभा म कहिन के साल 2007 म जब हमन बीजापुर जिला के गठन करे रहेन, त कई झन मन ए फैसला ल शंका के नजर ले देखत एखर मजाक उड़ाये रहिन अऊ ये सवाल उठाये सहिन कि ए जिला के छोट-छोट गांव म कोनो सरकारी कर्मचारी रहना नइ चाहए, तो का कलेक्टर संग उहां 32 विभाग मन के अधिकारी अऊ कर्मचारी रहना पसंद करहीं? फेर लोगन के ये आशंका निर्मूल साबित हो गीस। उमन आघू कहिन के जिला गठन के समय शंका जाहिर करइया मन ल मैं ए जिला के तरक्की देखे बर बलाना चाहत हंव। आज ये जिला विकास के दौड़ म कोनो ले पीछू नइ हे। ए जिला मुख्यालय ल अऊ जिला ल लउहे विकसित होत देख के मोला खुशी होत हे। बीजापुर एक छोटकुन गांव रहिस, जऊन अब एक विकसित अऊ सुव्यवस्थित शहर के रूप लेवत हे। जइसे अपन नान्हें लइका ल बाढ़ता देख के दाई-ददा ल खुशी होथे, वइसनहे खुशी मोला बीजापुर के तरक्की ल देख के होवत हे। उमन कहिन कि नवा राज्य के गठन के बाद ले छत्तीसगढ़ संग प्रदेश के दूरस्थ अंचल मन म विकास के गति तेज हो गए हे। उमन एकर श्रेय पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी बाजपेयी ल दीन। मुख्यमंत्री हर कहिन के स्वास्थ्य स्‍वा मन के मामला म घलोक ए जिला म अउबड प्रगति हो गए हे। उमन बीजापुर म सेवा देवत डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ मन ल धन्यवाद देवत कहिन कि आज बीजापुर म कठिन ले कठिन बीमारी मन के इलाज घलोक आप मन के वजह ले संभव हो सके हे। उमन कहिन कि बीजापुर म एजुकेशन हब के निर्माण करे जाही। युवा मन के कौशल उन्नयन बर छत्तीसगढ़ के लाइवलीहुड कॉलेज देश बर मॉडल बन गए हे।


मुख्यमंत्री हर आघू कहिन कि तेन्दूपत्ता पारिश्रमिक के दर बढ़ा के 1800 रूपए प्रतिमानक बोरा कर दे गए हे। उमन प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, सौर सुजला योजना अऊ प्रधानमंत्री आवास योजना के जानकारी घलोक दीन। उमन बीजापुर जिला के जनप्रतिनिधि अऊ नागरिक मन ले जिला ल अकटूबर 2018 तक खुले म शौचमुक्त बनाए के गिलौली करिन। मुख्यमंत्री हर भैरमगढ़ म अंदाजन 13 करोड़ 70 लाख रूपए के लागत ले बने पांच सौ सीट वाले एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय, जिला के नौ गांवों बर 90 लाख रूपए के लागत ले छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण (क्रेडा) ले सौर ऊर्जा प्रणाली ले करे गए प्रकाश व्यवस्था, 19 गांवों म क्रेडा ले आठ करोड़ 55 लाख रूपए के लागत ले दीनदयाल ग्रामीण विद्युतीकरण योजना के तहत सौर ऊर्जा ले विद्युतीकरण के लोकार्पण करिन। उमन दीनदयाल ग्रामीण विद्युतीकरण योजना के तहत छत्तीसगढ़ विद्युत वितरण कम्पनी ले पांच गांव -पेंकरम, ओड़सन, पोड़का, कोडे़पल्ली अऊ जारवा म चार करोड़ 80 लाख रूपए के लागत ले करे गए विद्युतीकरण, बीजापुर के शासकीय जिला अस्पताल म दो करोड़ 67 लाख रूपए के लागत ले निर्मित 50 बिस्तरों के मातृ अउर शिशु स्वास्थ्य वार्ड के घलोक लोकार्पण करिन।






डॉ. रमन सिंह हर जिला मुख्यालय बीजापुर म जऊन निर्माण कार्य मन के भूमिपूजन अऊ शिलान्यास करिन, ओमां स्कूल शिक्षा विभाग ले 96 करोड़ रूपए के लागत ले दंतेवाड़ा के ग्राम जावंगा के तर्ज म बनइया एजुकेशन सिटी, छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत पारेषण कम्पनी ले 90 करोड़ 75 लाख रूपए के लागत ले बनइया 132/33 के.व्ही. क्षमता के विद्युत उपकेन्द्र अऊ क्रेड़ा ले 14 गांवों मं एक करोड़ 40 लाख रूपए के लागत ले स्थापित करे जाने वाला सोलर स्ट्रीट लाईट ले संबंधित काम घलोक सामिल हावे। डॉ. सिंह युवा मन के कौशल उन्नयन बर बीजापुर म संचालित लाईवलीहुड कॉलेज बर दो करोड़ 63 लाख रूपए के लागत ले बनइया भवन के घलोक शिलान्यास करिन। उमन बीजापुर के कार्यक्रम म उसूर अउ भोपालपट्नम के औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान मन (आई.टी.आई.) के भवन मन के घलोक भूमिपूजन अऊ शिलान्यास करिन। डॉ. सिंह ह एखर अलावा पांच गांव - जैवारम, गुदमा, कुएनार, पिनकोण्डा अऊ कोड़ोली के नल-जल प्रदाय योजना अऊ प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बासागुड़ा संग उप स्वास्थ्य केन्द्र धनोरा, तोएनार अऊ बेदरे के घलोक भूमिपूजन करिन।





Post a Comment

0 Comments