सौर सुजला योजना ले मंहगू राम ल मिलीस लो वोल्टेज ले निजात





अम्बिकापुर 14 मार्च 2017। सरगुजा के जिला मुख्यालय अम्बिकापुर ले करीबन 50 किलोमीटर दूरिहा लुण्ड्रा विकासखण्ड के ग्राम घघरी के अंदाजन 70 बछर के किसान मंहगू राम ल पहिली अपन खेत मन के सिंचाई करे के समय बिजली के लो वोल्टेज के समस्या के सामना करना परय। मंहगू राम हर बताइस कि ओखर खेत ले करीब डेढ़ किलोमीटर दूर ट्रन्सफार्मर होए ले लो वोल्टेज के समस्या रहय, जेखर कारण समय म फसल मन के सिंचाई नइ हो पावत रहिस। एखर ले फसल के उत्पादन घलोक प्रभावित होवत रहिस। किसान मंहगू राम अब सौर सुजला योजना के तहत अपन खेत मं सोलर पैनल लगवाइस। एखर ले महंगू राम के खेत मन के सिंचाई असानी ले समय म हो जथे अउ लोवोल्टेज के समस्या ले ओला निजाद मिल गए हावे।
कृषक महंगू राम हर बताइस कि ओखर तीर करीबन 6 एकड़ खेती के जमीन हावे जऊन म वो पहिली वर्षा उपर आधारित खेती करत रहिस। बाद मं ओ हर अपन खेत मं ट्यूबेल खोदवाके सिंचाई पंप लगवाइस अउ कुछ समय बाद स्प्रिंकलर घलोक लगवा लीस। कृषक मंहगू राम के नाती राजेन्द्र हर बताइस कि सौर सुजला योजना के तहत सौर ऊर्जा चलित सिंचाई पंप अऊ सोलर पैनल लगवा लेहे ले अब ओ मन ल फसल के सिंचाई करे मं सुविधा हो गए हे। राजेन्द्र हर बताइस कि ओ मन मिरचा के बाद खीरा के खेती करत हें। ओ हर ये घलोक बताइस कि पाछू बरसात मं खीरा के खेती ले ओ मन ल तीन लाख रूपया अऊ मटर के खेती ले एक लाख रूपया के आय होए हे।
कृषक मंहगू राम के नाती राजेन्द्र खेत मे खीरा के फसल म कीटनाशक दवाई के छिड़काव करत करत बताइस कि शुरू ले ही कीटनाशक दवाई के छिड़काव करे ले फसल म कोनो कीटब्याधी अऊ कोनो रोग नइ हो पावय। उमन बताइन कि अभी ओ मन खेत मं खीरा, आलू, टमाटर, प्याज, बैगन अऊ मटर आदि लगाए हें। ओ मन ये घलोक बताइन कि एक साल मं ओ मन खीरा के तीन फसल ले लेथें। पहली फसल के बोनी मई मं, दुसर जुलाई अगस्त मं अऊ तीसर जनवरी मं खीरा के खेती करत हें अऊ एखर ले ओ मन ल अच्छा आमदनी हो जथे।


style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="4115359353"
data-ad-format="link">



style="display:block"
data-ad-format="autorelaxed"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="1301493753">

Post a Comment

0 Comments