देश मं कृषि के बेहतरी बर जैविक कृषि ल बढ़ावा देना जरूरी - श्री बृजमोहन अग्रवाल

कृषि मंत्री हर सूरजकुंड मं दूसर कृषि नेतृत्व सम्मेलन ल संबोधित करिन






रायपुर, 18 मार्च 2017। कृषि मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल हर कहिन कि देश मं कृषि के बेहतरी बर जैविक कृषि ल बढ़ावा देना जरूरी हे। श्री अग्रवाल आज हरियाणा के सूरजकुंड मं आयोजित दूसर कृषि नेतृत्व सम्मेलन ल संबोधित करत रहिन। ए अवसर म केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री एस.एस. अहलुवालिया अऊ हरियाणा के कृषि मंत्री ओ.पी. धनगड़ घलोक उपस्थित रहिन।
श्री अग्रवाल हर कहिन कि छत्तीसगढ़ नवा राज्य आए एकर गठन होए 17 साल ही होए हे तेमा अतीक कम समय मं ही देश के अग्रणी राज्य मन मं सामिल हो गए हे। इहां 40 प्रतिशत जमीन म वनक्षेत्र हे अऊ लगभग 50 प्रतिशत खेती जैविक होथे। उमन बताइन कि राज्य के 27 जिला मन मं हर जिला मं एक ब्लाक ल पूर्ण रूप से जैविक बनाए के काम करे जात हे। एखर खातिर जैविक खेती मं रूचि लेवइया किसान मन ल 20 हजार रूपया के सहायता राशि दे के निर्णय ले गए हे। उमन कहिन कि प्रधानमंत्री हर किसान मन के आय दुबना करे के लक्ष्य बनाय हे एखर बर जैविक खेती ल व्यापक रूप ले अपनाना जरूरी हावे। एखर खातिर युवा मन ल कृषि के संग जोड़े के अलावा कृषि ले जुड़े नवा तकनीक मन ल अपनाना होही। कृषि मंत्री हर बताइस कि छत्तीसगढ़ के बस्तर ल जैविक कृषि क्षेत्र बनाए के पहल जावत हे। उमन कहिन कि कृषि के संग-संग पशुपालन अऊ गौ पालन ल बढ़ावा देना जरूरी हावय। एखर बर किसान मन ल प्रशिक्षित करना जरूरी होही ताकि ओ मन आय के अतिरिक्त जरिया विकसित कर सकयं। उमन कृषि मं गौ मूत्र के उपयोग ल बढ़ावा दे के घलोक बात कहिन। श्री अग्रवाल हर समारोह स्थल मं लगे कृषि मेला के अवलोकन घलोक करिन। उमन कृषि मेला मं उन्नत नस्ल के भैंसवंशीय अऊ गौवंशीय पशु मन के अवलोकन करिन अऊ पशुपालक मन ले चर्चा कर छत्तीसगढ़ मं उन्नत नस्ल के पशुपालन ल बढ़ावा दे बर कई जानकारी प्राप्त करिन।


style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="4115359353"
data-ad-format="link">



style="display:block"
data-ad-format="autorelaxed"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="1301493753">

Post a Comment

0 Comments