नदी बचाय के संकल्प के संग सामूहिक शंखनाद: वैश्विक अभिलेख म दर्ज

शंखनाद आह्नान हे देश दुनिया ल कुंभ के दिव्यता अऊ पवित्रता ले साक्षात्कार कराये बर


रायपुर, 08 फरवरी 2018। राजिम के पवित्र तीन नदिया मन के संगम म हर बछर आयोजित होवइया कुंभ कल्प म ए बछर तीन विशेष सोपान के अद्भुत संगम होए हे। जेखर उद्देश्य अऊ संदेश छत्तीसगढ़ के ऐतिहासिक, धार्मिक, आध्यात्मिक अऊ सांस्कृतिक संस्कृति ल ऊंचाई प्रदान करत नदिया मन के संरक्षण करना हे, ताकि प्रदेशवासी सुख समृध्दि अऊ उन्नति कोति सदैव अग्रसर रहय। आज जानकी जयंती के अवसर म प्रदेश के प्रसिध्द मंदिर मन के पुजारी अउ प्रदेशवासी मन कोति ले 21 सौ ले जादा शंख मन के सामूहिक शंखनाद करे गीस, जऊन नदी बचाय के संकल्प ल लेके कुंभ के दिव्यता, भव्यता अऊ पवित्रता ल देश दुनिया ले साक्षात्कार कराइस।
ये अवसर म प्रदेश के धर्मस्वमंत्री बृजमोहन अग्रवाल ह अपन उद्गार व्यक्त करत कहिन कि शंखनाद के माध्यम ले ये संकल्प बल पाए के उदीम हे। वेद पुराण मन म घलोक बताइए गए हे कि समुद्र मंथन ले पांचजन्य शंख प्राप्त होय रहिस, जऊन सुख-समृद्धि अऊ संकल्प के प्रतीक हे। आज मंदिर मन के पुजारी, राजिम अउ प्रदेशवासी मन कोति ले 15 सौ शंख मन के सामुहिक शंखनाद करे के योजना रहिस फेर 21 सौ मनखे मन के एक संग शंखनाद करना एक नवा संकल्प अउ संभावना के चिनहा बनके वैश्विक अभिलेख म दर्ज हो गीस। उमन कहिन कि नदिया मन ल बचाए अउ धर्म के रक्षा करे बर ये सामूहिक शंखनाद करे गीस।
धर्मस्व सचिव सोनमणी बोरा ह बताइस कि जानकी जयंती के शुभ अवसर म नदी बचाओं अभियान के तहत् ये शंखनाद के आयोजन करे गीस। जइसन कोनो शुभ काम बर शंख बजाके शुभारंभ करे जाथे उइसनहे नदी बचाय के संकल्प ल लेके ये शंखनाद करे गीस।


style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="6787779569"
data-ad-format="auto">


10 राउण्ड म होइस शंखनाद
गंगा आरती के पावन घाट म 10 राउण्ड म सामूहिक शंखनाद होइस। पहिली छै राउण्ड बइठके शंखनाद करे गीस, उहें सात ले दसवां राउण्ड तक खड़े होके शंखनाद करे गीस। गंगा आरती के बेरा घलोक शिव तांडव के अवसर म शंखनाद करे गीस।
सामूहिक शंखनाद ल मिलीस गोल्डन बुक ऑफ रिकार्ड
सामूहिक शंखनाद ल गोल्डन बुक ऑफ रिकार्ड के एशिया हेड डॉ मनीष बिश्नोई ले एकर प्रमाणपत्र धर्मस्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल अऊ धर्मस्व जल संसाधन सचिव सोनमणी वोरा ल प्रदान करे गइस। डॉ. मनीष ह ए अवसर म कहिन कि ये कार्यक्रम अद्भूत अविश्वसनीय अऊ दिव्य रहिस। सही म ये शंखनाद नहीं महाशंखनाद रहिस, जेमां लक्ष्य ले जादा 21 सौ ले जादा शंख मन के शंखनाद हाइस, जऊन ल गोल्डन बुक ऑफ रिकार्ड म दर्ज करे गीस। ए दौरान महांडलेश्वर, साधु-महात्मा मन संग राजिम विधायक संतोष उपाध्याय के अलावा स्थानीय नागरिक अउ श्रद्धालुगण उपस्थित रहिन। रिकार्ड बर प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह प्रदेशवासी मन ल बधाई देवत शुभकामना देहे हें।


style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="6787779569"
data-ad-format="auto">

Post a Comment

0 Comments