आज नागपंचमी, महत्‍व और मान्‍यता

रायपुर, आज नागपंचमी मनाई जा रही है। हिन्दू धर्म में देवी-देवताओं के साथ ही उनके प्रतीकों और वाहनों की पूजा-अर्चना करने की भी परंपरा है। नाग पंचमी भी ऐसा ही एक पर्व है जिसमें सांप या नाग को देवता मानकर उसकी पूजा की जाती है। नाग पंचमी के दिन लोग दिन भर व्रत करते हैं और सांपों को दूध भी पिलाते हैं। नाग पंचमी के व्रत को अत्यंत फलदायी और शुभ माना गया है। सावन मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को नागपंचमी का त्योहार मनाया जाता है। खास बात यह है कि इस बार नाग पंचमी सोमवार के दिन है, जिसके कारण उसका महत्व और बढ गया है। दरअसल सोमवार को भगवान शिव का दिन माना जाता है और नाग उन्हें काफी प्रिय हैं।

ज्योतिष शास्त्र में भी यह दिन काफी महत्व रखता है। मान्यता के अनुसार कुंडली में अगर काल सर्प दोष हो तो नाग पंचमी के दिन नाग देवता की पूजा और रुद्राभिषेक करना चाहिए। माना जाता है कि ऐसा करने से इस दोष से मुक्ति मिल जाती है। पौराणिक दृष्टि से नाग पूजा का संबंध महाभारत काल से श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी को नाग पूजन का विधान है। पंचमी तिथि चार अगस्त की रात 11.02 बजे से पांच अगस्त की रात 8.40 बजे तक रहेगी। नाग पंचमी सोमवार को तो पड़ ही रही है साथ ही सिद्धयोग भी बन रहा है जो बेहद खास है। नागपंचमी पर यह भी पढ़ें .. नागों के बारे में हैरान कर देने वाली मान्यतायें आज नागपंचमी, छग के इन अखाड़ों में होंगे दंगल- कुश्ती आरंग के डिघारी में है नागेश्‍वर मंदिर, होती है सांप की पूजा

Post a Comment

0 Comments