श्री शंकराचार्य महाविद्यालय के हिन्दी विभाग द्वारा प्रेमचन्द जयंती व तुलसीदास जयंती का आयोजन

भिलाई, श्री शंकराचार्य महाविद्यालय के हिन्दी विभाग द्वारा तुलसीदास जयंती व प्रेमचन्द जयंती का आयोजन किया गया। जिसमे बीएससी प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों द्वारा विभिन्न कार्यक्रम प्रस्तुत किये गये जिसमें छात्रा रिशिता यादव ने रामायण की चौपाईयों को प्रस्तुत किया। छात्रों द्वारा विश्वविद्यालय द्वारा जारी आधार पाठ्यक्रम हिन्दी विषय के नवीन पाठ्यक्रम मे सम्मलित प्रेमचन्द कृत ईदगाह कहानी का मंचन अभय पाण्डेय व समूह द्वारा किया गया तथा अन्त में छात्रों ने हामिद के समान ही अपने माता - पिता घर के बुजुर्गो को सम्मान, स्नेह व सहयोग देने की अपील लोगो से की।
वही अंजली सिंह व समूह द्वारा तुलसीदास के जीवनवृत को नाटक के माध्यम से प्रस्तुत किया । जिसमें तुलसी दास जी के जीवन के मुख्य अंशो को अभिनीत कर बहुत ही सरल तरीके से विज्ञान से जुड़ विद्यार्थियों को तुलसीदास जैसे महान साहित्यकार के जीवन से साक्षात्कार कराया। इस अवसर पर शुभम सेन ने पेंसिल स्कैच से प्रेमचन्द व तुलसी दास जी की तस्वीर बना विभाग को भेंट की।
महाविद्यालय की निदेशक एवं प्राचार्या डॉ. रक्षा सिंह ने हिन्दी के दोनो महान साहित्यकारों को समाज के आम व्यक्तियों की भावनाओं को व्यक्त करने वाला बतलाया। दोनो अमर विभूतियाँ है जिन्हें उनके साहित्य लेखन के लिए जाना जाता है। महाविद्यालय के अतिरिक्त निदेशक डॉ. जे. दुर्गा प्रसाद राव ने इस आयोजन की सराहना करते हुए महान साहित्यकारों की कृतियों को समाज निमार्ण में व मानवीय संवेदना और जीवन जगत मूल्यों को जोडने वाली बताया। कार्यक्रम के अन्त में हन्दी विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ. अर्चना झा ने कहा कि हिन्दी विभाग द्वारा अभिनव प्रयोग के रूप में हिन्दी के महान साहित्यकारों की जयंतियाँ आयोजित करता है जिसका उद्देश्य साहित्य के अलावा अन्य विषयों की विद्यार्थियों को हिन्दी साहित्य व हिन्दी के महान साहित्यकारों से परिचित कराना है। जिनके साहित्य के माध्यम से विद्यार्थी अपने व्यक्तित्व का विकास कर उज्जवल भविष्य का निर्माण कर सकते है। 

Post a Comment

0 Comments