पहली बार देरी से पहुंची तेजस, यात्रियों को मिलेगा 250 रुपये का मुआवजा

चार अक्टूबर को लखनऊ से लॉन्च हुई तेजस भारतीय रेलवे की पहली निगमीकृत ट्रेन है, जिसका संचालन इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन (आईआरसीटीसी) करता है. बता दें कि आईआरसीटीसी के नियमों के तहत तेजस के एक घंटे और उससे ज्यादा लेट होने पर यात्रियों को 100 रुपये और दो घंटे या उससे ज्यादा की देरी होने पर 250 रुपये मुआवजा दिया जाएगा.

Post a Comment

0 Comments