विश्व चैंपियनशिप में चमक बिखेरने उतरेंगे भारत के टॉप-9 अल्ट्रा रनर

भारत के टॉप-9 अल्ट्रा रनर्स, जिनमें बंगलुरू के उल्लास नारायन और दिल्ली की अपूर्वा चौधरी शामिल हैं, इस हफ्ते के अंत तक फ्रांस के अल्बी में आयोजित होने वाली आईएयू 24 आवर विश्व चैंपियनशिप में देश की चुनौती की अगुआई करेंगे. उल्लास नारायन बंगलुरू के एक दिग्गज धावक हैं और अभी वेंकूवर (कनाडा) में कार्यरत हैं. वे कुछ महीने पहले आयोजित 24 आवर स्टेडियम रन में 250.371 किलोमीटर की दूरी तय करते हुए विश्व चैंपियनशिप का टिकट हासिल करने में सफल रहे हैं.

महिलाओं में दिल्ली की अपूर्वा चौधरी ने 176.8 किलोमीटर के साथ भारत की टॉप रनर के तौर पर इस दौड़ के लिए क्वालीफाई किया है. भारत के टॉप-9 अल्ट्रा रनर में पांच पुरुष और चार महिलाएं शामिल हैं. इन सबका चयन भारतीय एथलेटिक्स महासंघ ने किया है. यह आईडीबीआई फेडरल लाइफ इंश्योरेंस ने इसे प्रायोजित कियी है. आईडीबीआई फेडरल लाइफ इंश्योरेंस भारत में कई मैराथनों का आयोजन करता है और एनईबी स्पोर्ट्स को संचालित करता है. 

भारतीय दल के साथ पांच सदस्यीय सपोर्ट स्टाफ सफर करेगा. इनमें तीन अल्ट्रा मैराथन धावक और एक स्पोटर्स मेडिसिन स्पेशलिस्ट शामिल हैं. आईडीबीआई फेडरल लाइफ इंश्योरेंस के चीफ मार्केटिंग अधिकारी कार्तिक रमन ने कहा कि आईडीबीआई फेडरल लाइफ इंश्योरेंस में हम स्वस्थ और फिट जीवन की कामना करते हैं. अल्ट्रा रनिंग को समर्थन देना इसी मकसद की ओर हमारी प्रतिबद्धता है. मुझे यह देखकर खुशी हो रही है कि इस साल भारत का मजबूत प्रतिनिधिमंडल इस दौड़ में हिस्सा ले रहा है. हमें यकीन है कि भारतीय टीम अच्छा परिणाम देगी और हमारे एथलीट कोचों, विशेषज्ञों की देखरेख में इस इवेंट के लिए जमकर मेहनत कर रहे हैं.

इस मुकाबले में 45 देशों के टॉप मैराथन धावक और अल्ट्रा रनर हिस्सा लेंगे. इनमें महिला विश्व रिकार्डधारी अमेरिका की केमिली हेरॉन भी शामिल हैं. इस मुकाबले में जो धावक 24 घंटे में अधिक से अधिक दूरी तय करेगा, वह विजेता घोषित किया जाएगा. उल्लास नारायन (250.37 किलोमीटर), सुनील शर्मा (215.6 किलोमीटर), बिनय शाह (222.240 किलोमीटर), कनन जैन (207.2 किलो मीटर) प्रणय मोहंथी (211.6 किलो मीटर) पुरुष टीम में शामिल हैं जबकि अपूर्वा चौधरी (176.8 किलो मीटर), हेमलता सैनी (172.3 किलो मीटर), प्रियंका भट (170 किलो मीटर) व श्यामला एस. (167.6 किलो मीटर) महिला टीम की सदस्य हैं.

एनईबी स्पोर्ट्स के नागराज अडीगा ने कहा कि भारत अल्ट्रा रनिंग के क्षेत्र मे तेजी से एक शक्ति बनता जा रहा है. हमारी टीम निश्चित तौर पर अपने पिछले प्रदर्शन से बेहतर करेगी और यह भारत में इस खेल के लिहाज से काफी प्रगतिशील बात होगी. मैं देख रहा हूं कि भारतीय इस चैंपियनशिप में नए रिकार्ड कायम करेंगे क्योंकि हम दो-तीन टीमों से दूरी के मामले में बराबरी पर हैं. हम देख रहे हैं कि आने वाले समय में हमारे और दूसरी टीमों के बीच की दूरी कम होगी. भारत ने 2017 में आईओयू इवेंट्स में हिस्सा लेना शुरू किया है. भारत ने दिसंबर, 2018 में ताइपे में आयोजित एशिया ओसेनिया 24 आवर चैंपियनशिप में व्यक्तिगत और टीम मुकाबले में कांस्य पदक जीता था. (खेल पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



Post a Comment

0 Comments