भाजपा-शिवसेना में घमासान के बीच आदित्य ठाकरे ने पहली बार तोड़ी चुप्पी, बोले सरकार बनने...

भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना में घमासान जारी है। भाजपा महाराष्ट्र में सीएम पद का बंटवारा नहीं चाहती है जबकि शिवसेना मुख्यमंत्री पद के बंटवारे पर अड़ी हुई है। इसी वजह से दोनों दलों के बीच बात नहीं बन पा रही है। इसी खींचतान के बीच उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे ने पहली बार चुप्पी तोड़ दी है। आइए जानें उन्होंने क्या बयान दिया है।

राज्यपाल से मिलने गए थे शिवसेना के विधायक

भाजपा से भले ही शिवसेना की बात नहीं बन पा रही हो लेकिन पार्टी ने पूरी सक्रियता को बनाए रखा है। पार्टी नेता संजय राउत एनसीपी प्रमुख से मुलाकात करने पहुंचे तो सियासी पारा चढ़ गया। वहीं दूसरी ओर पार्टी के विधायक गुरुवार को राजभवन गए थे। यहां पर उन्होंने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की। इन विधायकों में आदित्य ठाकरे भी शामिल थे।

जानें आदित्य ठाकरे ने दिया क्या बयान

राज्यपाल से मिलने पहुंचे आदित्य ठाकरे ने पहली बार चुप्पी तोड़ दी और मीडिया के सवालों का जवाब दिया। उनसे सरकार के बारे में पूछा गया तो बोले कि सरकार बनने-बिगड़ने के बारे में वो कुछ नहीं कहेंगे। इस मुद्दे पर सिर्फ उद्धव ठाकरे ही बताएंगे। वहीं राज्यपाल से मुलाकात की वजह पर उन्होंने कहा कि हमने राज्यपाल से बारिश से प्रभावित किसानों, मछुआरों को मदद दिलाने के लिए निवेदन किया है। आदित्य बोले कि शिवसेना जनता की आवाज हमेशा उठाते रहेगी।

दोस्तो आपको क्या लगता है आदित्य ठाकरे को सीएम बनाना चाहिए या नहीं, कमेंट में बताएं और न्यूज शेयर करें। हर अपडेट के लिए आप मुझे फॉलो जरूर करें। धन्यवाद।।

(न्यूज सोर्स- zeenews.india.com)



Post a Comment

0 Comments