विश्व बैंक ने भी चालू वित्त वर्ष के लिए भारत का ग्रोथ रेट घटाया

नई दिल्‍ली। IMF के बाद अब विश्व बैंक ने चालू वित्त वर्ष के लिए भारत का ग्रोथ रेट घटा दिया है। विश्व बैंक ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए ग्रोथ रेट का अनुमान घटाकर 6 फीसदी कर दिया है। पिछले वित्त वर्ष (2018-19) में भारत की विकास दर 6.9 फीसदी रही थी।
रिपोर्ट में कहा गया है कि अगले वित्त वर्ष से भारत की अर्थव्यवस्था रफ्तार पकड़ेगी और 2021 में यह 6.9 फीसदी तक पहुंच सकती है। अनुमान तो यह भी लगाया है कि 2022 में विकास की रफ्तार 7.2 फीसदी तक पहुंच जाएगी।
IMF ने भी घटाया विकास दर का अनुमान
इसी हफ्ते IMF ने चालू वित्त वर्ष के लिए भारतीय अर्थव्यवस्था की विकास दर का अनुमान घटा दिया था। IMF ने अब विकास दर का अनुमान 0.30 फीसदी घटाकर 7 फीसदी कर दिया है। उससे पहले रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने भारत का ग्रोथ रेट का अनुमान 6.8 फीसदी से घटाकर 6 .1 फीसदी कर दिया था। जानकारों के मुताबिक ऐसा घरेलू मांगों में आई कमी की वजह से किया गया है।
लगातार दो सालों से विकास दर में गिरावट
आईएमएफ और वर्ल्ड बैंक की सालान बैठक जल्द होने वाली है। इस रिपोर्ट को ठीक उससे पहले प्रकाशित किया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत की विकास दर में लगातार दूसरे साल गिरावट आई है। बता दें, 2017-18 में विकास दर 7.2 फीसदी रही थी, जो 2018-19 में घटकर 6.8 फीसदी पर पहुंच गई। इस वित्त वर्ष में यह घटकर 6 फीसदी पर पहुंच चुकी है।
कृषि विकास दर 2.9 फीसदी पर
वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट के मुताबिक चालू वित्त वर्ष में औद्योगिक उत्पादन विकास दर में बढ़ोत्तरी हुई है। मैन्युफैक्चरिंग और कंस्ट्रक्शन एक्विविटी में तेजी से औद्योगिक विकास दर 6.9 फीसदी पर पहुंच गई है, जबकि कृषि विकास दर 2.9 फीसदी और सर्विस सेक्टर में ग्रोथ रेट 7.5 फीसदी है।
-एजेंसियां

The post विश्व बैंक ने भी चालू वित्त वर्ष के लिए भारत का ग्रोथ रेट घटाया appeared first on Legend News.



Post a Comment