जम्मू कश्मीर में बाल विवाह निषेध कानून के साथ दहेज उत्पीड़न का भी कानून होगा लागू: डॉ. जितेन्द्र सिंह

ग्रुप ऑफ इंटेलेक्चु्अल एण्ड एकेडमिशियन्स की एक प्रतिनिधि मंडल ने बुधवार को प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री डॉ जितेन्द्र सिंह से मुलाकात कर जम्मू कश्मीर की ग्राउंड रिपोर्ट सौपी है। अुनच्छेद 370 और 35ए के हटने के बाद वहां के हालात क्या है इसकी जानकारी इस रिपोर्ट में है। प्रतिनिधिमंडल की सदस्य और सुप्रीम कोर्ट की वरिष्ठ वकील मोनिका अरोड़ा ने कहा कि बुद्धीजीवी महिलाओं का ये प्रतिनिधिमंडल ने तीन  तीन की ग्रुप में लेह लद्दाख, जम्मू और कश्मीर का दौरा किया और समाज के हर तबके से बात की और हालात का जायजा लिया। 

इस मौके पर प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री डॉ जितेन्द्र सिंह ने कहा कि जो भी रिपोर्ट दी गई है उसकी गंभीरता से विचार किया जाएगा। उन्होने कहा कि  आने वाले समय में  महिलाओं के हित में बड़े कदम उठाए जाएंगे।  जम्मू कश्मीर में बाल विवाह निषेध कानून के साथ साथ दहेज उत्पीड़न का भी कानून लागू होगा।

डॉ. जितेन्द्र सिहं ने कहा कि जम्मू कश्मीर में आतंकवाद अब अंतिम सांसे गिन रहा है। उन्होंने कहा कि एकतीस अक्टूबर के बाद आनेवाला बदलाव क्रांतिकारी साबित होगें और युवाओं के लिए रोजगार के नए अवसर  खुलेंगे। नये उधोग धंधे लगेंगे, राज्य का  विकास होगा।  

 



Post a Comment

0 Comments