दरिंदगी : आधार कार्ड बनवाने गई लड़की से एक महीने तक गैंगरेप, आरोपियों ने पीड़िता से लेटर भी लिखवाया

नयी दिल्ली। मध्य प्रदेश के बैतूल जिले के आमला थाना क्षेत्र में एक 19 साल की लड़की के साथ एक महीने तक गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया है। पीड़िता थाना बोरदेही की रहने वाली है और इंदौर में जॉब करती है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पीड़िता अपने परिचित के साथ शहर में अपना आधार कार्ड बनावाने आई थी। इसी दौरान उसके साथ गैंगरेप किया गया। इस दौरान दरिंदो ने पीड़िता से एक लेटर भी लिखवा लिया।

Aadhar card बनवाने गई थी लड़की, एक महीने तक होता रहा गैंगरेप

पीड़िता के मुताबिक उसका आधार कार्ड खो गया था। नया आधार कार्ड बनवाने के लिए उसने अपने गांव के छोटे पवार नाम के लड़के को बोला तो छोटे ने उसे 17 सितंबर को आमला बुला लिया और एक कमरा किराए पर लेकर उसमें रुकवा दिया।

Aadhar card बनवाने गई थी लड़की, एक महीने तक होता रहा गैंगरेप

पीड़िता का कहना कि जब वह छोटे पवार से आधार बनाने को कहती तो वह टाल देता। 9 अक्टूबर को करीब रात 9 बजे छोटे पवार और राम डिगया सफेद कलर की स्कॉर्पियो में जबरदस्ती बैठाकर मुझे राम डिगया के खेत में ले गए। वहां दोनों ने जबरदस्ती मेरे साथ बलात्कार किया। जब उसकी हालत बिगड़ी तो उसे कमरे में लाकर छोड़ दिया। चार दिन बाद 13 अक्टूबर को पीड़िता को आमला के बोडखी ले गए और वहां मंगल यादव नाम के तीसरे आरोपी ने रेप किया।

Aadhar card बनवाने गई थी लड़की, एक महीने तक होता रहा गैंगरेप

पीड़िता का कहना है कि आरोपियों ने उससे एक लेटर भी लिखवाया कि अगर मेरी मौत हो जाए तो उसके लिए मेरे चाचा-चाची जिम्मेदार होंगे। जब परिजनों को इस बात की सूचना मिली क‍ि उनकी लड़की 1 महीने से आमला में है तो वे उसे लेने पहुंचे। तब उन्हें पता चला कि उनकी लड़की के साथ इस तरह की घटना घटी है। परिजनों ने इसकी शिकायत आमला पुलिस थाने में की है।

Aadhar card बनवाने गई थी लड़की, एक महीने तक होता रहा गैंगरेप

पुलिस ने आरोपी छोटे पवार, राम और मंगल यादव के खिलाफ रेप का मामला दर्ज कर पीड़िता का मेडिकल कराकर जांच शुरू कर दी है। बैतूल एसपी का कहना है कि मामले की जांच हो रही है और आरोपियों की तलाश शुरू कर दी गई है। http://www.kanvkanv.com

The post दरिंदगी : आधार कार्ड बनवाने गई लड़की से एक महीने तक गैंगरेप, आरोपियों ने पीड़िता से लेटर भी लिखवाया appeared first on Kanv Kanv.



Post a Comment

0 Comments