विजय हजारे ट्रॉफी: नॉकआउट चरण में दिल्ली का सामना गुजरात से

विजय हजारे ट्राफी एकदिवसीय क्रिकेट टूर्नामेंट के नाकआउट चरण में हिस्सा लेंगी जिसमें दिल्ली का सामना गुजरात से होगा। दोनों टीमों के बीच रोमांचक मुकाबले की उम्मीद है। दिल्ली को उम्मीद होगी कि अनुभवी सलामी बल्लेबाज शिखर धवन बड़ी पारी खेलने और युवा बल्लेबाज क्रम को एकजुट करने में सफल रहेंगे। पार्थिव पटेल और प्रियांक पांचाल जैसे बल्लेबाजों की मौजूदगी वाले विरोधी टीम के बल्लेबाजी क्रम के खिलाफ दिल्ली की नजरें तेज गेंदबाज नवदीप सैनी पर टिकी होंगी।

गत चैंपियन मुंबई के लिए हालांकि खिताब बचाना आसान नहीं होगा। मुंबई का सामना 21 अक्टूबर को क्वार्टर फाइनल में छत्तीसगढ़ से होगा जबकि ग्रुप सी में अपने सभी मैच जीतने वाला तमिलनाडु इसी दिन पंजाब के खिलाफ उतरेगा। मुंबई की टीम भाग्यशाली रही कि खराब मौसम के कारण दो मैच रद्द होने के बावजूद अंतिम आठ में जगह बनाने में सफल रही।

छत्तीसगढ़ ने लीग चरण के बड़े स्कोर वाले मैच में मुंबई को हराया था और श्रेयस अय्यर की अगुआई वाली टीम हार का बदला चुकता करने को बेताब होगी। सभी की नजरें मुंबई के युवा बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल (382 रन) पर टिकी होंगी जिन्होंने मुंबई के अंतिम लीग मैच में दोहरा शतक जड़ा और यह उपलब्धि हासिल करने वाले दुनिया के सबसे युवा खिलाड़ी बने। दूसरी तरफ छत्तीसगढ़ को स्टार खिलाड़ी अमनदीप खरे और गेंदबाजों से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगी।

दिनेश कार्तिक की अगुआई वाली तमिलनाडु की टीम के पास अभिनव मुकुंद (513 रन), मुरली विजय, बाबा अपराजित (470 रन) और विजय शंकर जैसे अनुभवी खिलाड़ी हैं। कप्तान भी अच्छी लय में हैं और लीग चरण में 135.79 के शानदार स्ट्राइक रेट से रन बना चुके हैं। युवा बल्लेबाज एम शाहरूख खान ने भी अपनी बड़े शाट खेलने की क्षमता दिखाई है और कप्तान के साथ कुछ उपयोगी साझेदारियां कर चुके हैं। ग्रुप सी में अपने सभी नौ मैच जीतने वाले तमिलनाडु की राह पंजाब के खिलाफ आसान नहीं होगी जिसका गेंदबाजी आक्रमण काफी मजबूत है।

जयपुर में शानदार प्रदर्शन के बाद तमिलनाडु को बेंगलुरु में बिलकुल अलग हालात का सामना करना होगा जहां बारिश ने बड़ी भूमिका निभाई है। तमिलनाडु के पास बायें हाथ के तेज गेंदबाज टी नटराजन और के विग्नेश जैसे गेंदबाज हैं जिन्हें अनमोलप्रीत सिंह (नौ मैचों में 462 रन) और गुरकीरत सिंह मान जैसे बल्लेबाजों की चुनौती का सामना करना पड़ा।

एक अन्य क्वार्टर फाइनल में मनीष पांडे की अगुआई वाले कर्नाटक का सामना क्वार्टर फाइनल में पुडुचेरी की नई नवेली टीम से होगा। आठ मैच में 505 रन बनाने वाले पांडे और सलामी बल्लेबाज देवदत्त पडीक्कल अच्छी लय में है। टीम हालांकि पुडुचेरी को हल्के में नहीं लेगी जिसके पास कर्नाटक के पूर्व स्टार खिलाड़ी विनय कुमार हैं।

नाकआउट कार्यक्रम इस प्रकार है:

20 अक्टूबर : कर्नाटक बनाम पुडुचेरी और दिल्ली बनाम गुजरात

21 अक्टूबर : तमिलनाडु बनाम पंजाब, छत्तीसगढ़ बनाम मुंबई



Post a comment