20 नवंबर राशिफल : जानें क्या कहते हैं सितारे आपके दिन के बारे में

मेष(Aries)–अपने हालात का सही जायजा लेंगे तो बहुत सारी अच्छाईयों को समझने में मदद मिलेगी जो इस समय आपके लिए बनी हुई हैं. यथास्थिति बनाये रखने से भी बहुत कुछ संभाला जा सकता है. जब भी हालात मदद करने पर आयें तब परेशानियाँ वैसे ही थम जाती हैं.

क्या करें –किसी से भी उलझते चले जाने से बचना होगा. रिश्तों को सँभालने और सहेजने के लिए भी यह बहुत जरूरी होगा. कामकाज के प्रति भी अपनी लगन और अपनी तवज्जो बनाये रखने का समय है ताकि तकदीर आपका साथ निभाती चली जाए.

क्या न करें –बार-बार अपने लिए कोई ऐसी स्तिथि न बनाएं जिसमें आपकी मेहनत कम होती चली जाए. ऐसा न सोचें की आपकी ओर से कोई कमी है. आपने लोगों से जुड़ने की कोशिश की है पर फिलहाल हालात उतने अनुकूल नहीं हैं.

वृषभ(Taurus)–कई तरह की चुनोतियों का सामना करना पड़ सकता है, उसका एक कारण यह भी है की आपका मन उचाट है और कोई न कोई परेशानी आपने अपने मन में बिठा रखी है जिसकी वजह से आपको अपनी मुश्किलें बहुत बड़ी नजर आ रही हैं.

क्या करें –कामकाज की स्तिथि को संभाले रखने के लिए अपनी लगन बनाये रखनी होगी और किसी भी तरह के जोखिम से बचना होगा. मुश्किलें अनायास ही बन सकती हैं, ऐसे में सतर्क रहना और भी ज्यादा जरूरी हो जाएगा.

क्या न करें –अपनी ही गलतियों की वजह से आप किसी प्यार के रिश्ते को बिगाड़ते न चले जाएँ. शक रिश्तों की नीवं को हिला सकता है, इसलिए अपने मन में कोई ऐसी नकारात्मकता न बिठाएं जिसके चलते रिश्तों को संभालना मुश्किल होता चला जाए.

मिथुन(Gemini)–कामकाज की स्तिथि भी संभली हुई है और लोग भी आपके प्रति हर तरह से मददगार हैं. यह और बात है की आपके साथी-सहयोगियों के मन में आपके प्रति कोई न कोई इर्ष्या की भावना हो सकती है जिसकी वजह से आपका मन भी परेशान रहे. ऐसे में शांत रहने की भी जरूरत है.

क्या करें –खुद पर भी भरोसा करना होगा और लोगों को भी साथ लेकर चलना होगा. ज़िन्दगी में इसी तरह का तालमेल बनाये रखने से हालात को संभाला जा सकता है. यह भी समझ लें की कभी-कभी लोगों की बात मान लेने से भी फायदा हो सकता है.

क्या न करें –पैसे की स्तिथि ठीक है पर पैसे को लोगों पर लुटाते चले जाना ठीक नहीं है, क्योंकि ऐसा करने से न तो आप रिश्तों को संभाल पाएंगे और ना ही अपनी गलतियों से बच पाएंगे जो इस समय बनी हुई हैं.

कर्क(Cancer)–कुछ ऐसा लगता है जैसे आपने खुद को परेशान कर रखा है. जरूरत से ज्यादा भावुक होते चले जाने से भी मुश्किलें पैदा हो सकती हैं. अगर लोग पहले से ही आपके खिलाफ हों तो स्तिथि और भी बिगड़ सकती है.

क्या करें –अपनी चुनोतियों का भलीभांति आंकलन करने की जरूरत है ताकि किसी भी तरह की गलती से बचा जा सके. कोई बड़ा कदम उठाने से पहले भी रुक जाने की जरूरत है ताकि हालात आपके लिए संभले रहें.

क्या न करें –कोई भी परिवर्तन करें तो ऐसा करें जो आपको अपनों के करीब ले आए. इस समय फासले बनाते चले जाना ठीक नहीं है. अपने मन को उचाट करके कोई ऐसा फैसला न करें जो आपके कामकाज की स्तिथि को कमज़ोर करता चला जाए.उपाय –कर्क राशि वालों के लिए ख़ास उपाय यह है जी की आने वाले चार बृहस्पतिवार को किसी भी मंदिर या पूजा स्थल पर जाएँ. किसी भी देवी देवता के आगे माथा टेक लेंगे तो अपने मन में बिठाई हुई घबराहट को संभालना आसान हो जाएगा.

सिंह(Leo)–कोई प्यार का रिश्ता बहुत प्रबल है आपके मन में और आप हर तरह की चुनोतियों का सामना करने के लिए भी तैयार हैं. मन में इच्छाएं बहुत हैं और इच्छाओं के आगे किसी भी और चीज़ का बस नहीं चलता. आप अपनी मुश्किलों को भी समझ रहे हैं पर मुश्किलों से झूंझ लेने की भी प्रेरणा है आपके मन में.

क्या करें –चुनोतियों का सामना करने के लिए अपने अंदर उसी तरह का जूनून बनाने की जरूरत पड़ती है और आप मेहनत का रास्ता इख्तेयार करना चाह रहे हैं, यह अपने आप में बहुत बड़ी बात है. हाल ही में जो आपने अपने अंदर परिवर्तन लाये हैं उससे भी आपको फायदा मिल सकता है.

क्या न करें –आपकी पैसे की स्तिथि अनुकूल है पर पैसे को लेकर अपने मन में असंतोष पैदा करते चले जाना ठीक नहीं है क्योंकि ऐसा करने से भी इंसान ज़ल्दबाज़ी में फैसले करता है और नुकसान की स्तिथि बन सकती है.

कन्या(Virgo)–घर-परिवार का सुख बना हुआ है और कामकाज से लाभ भी बना हुआ है इसलिए हालात आपके लिए हर तरह से मददगार हैं. रिश्तों की स्तिथि बनाये रखने के लिए अनुकूल समय है जिसका फायदा उठाया जा सकता है. कामकाज को लेकर भी लाभ बना रहे यह बहुत बड़ा आशीर्वाद है.

क्या करें –रिश्तों की अच्छाई बनी हुई है पर मतभेद की परिस्थितियां भी साथ ही साथ चल रही हैं. अपने बनते बिगड़ते विचारों की वजह से ऐसा होना स्वाभाविक सी बात है. अपने विचारों को थोड़ा सा धीमा कर लेने की जरूरत है.

क्या न करें –काम से जुडी चुनोतियों को परेशानियों की नजर से न देखते चले जाएँ और अगर कोई परेशानियाँ हैं भी तो भी अपने निजी जीवन के सुख और सुकून को किसी वजह से कम न करें. यह समय ही ऐसा है जिसमें कई तरह का तालमेल बनाया जा सकता है. काम को लेकर बहुत ज्यादा दुखी होते चले जाना भी ठीक नहीं.

तुला(Libra)–आपकी उपलब्धियों के द्वार आपकी मेहनत से खुलेंगे जिसके लिए आपको कई तरह के नए विकल्प भी टटोलने होंगे. अपने मन में प्रतियोगिता की भावना लाने से ही लोगों से दो कदम आगे बढ़ा जा सकेगा.

क्या करें –अपने ज्ञान को बढाने की दिशा में आप जो भी प्रयास कर रहे हैं उससे फायदा हो सकता है और इस प्रयास के चलते रिश्तों की अच्छाई भी उभरकर आ सकती है तो हर रूप से कोई न कोई नया विकल्प आपकी ज़िन्दगी में अच्छाई ला सकता है जिसे बनाये रखने की जरूरत है.

क्या न करें –अगर किसी विचार को लेकर मन में ज़रा सा भी असमंजस है तो उस रास्ते पर बिलकुल न चलें क्योंकि यह समय आपको बहुत ज्यादा भावुक बना रहा है और आपकी मानसिक परेशानियों को उभारता हुआ नजर आ रहा है. ऐसे अस्थिर समय में कोई बड़ा फैसला करके अपनी मुश्किलें बढ़ा लेना भी ठीक नहीं.

वृश्चिक(Scorpio)–आर्थिक दृष्टिकोण से अच्छा समय है जिसमें आपकी मेहनत से भी लाभ हो सकता है और आपके अपनों की मदद से भी लाभ हो सकता है. कोई न कोई ऐसी स्तिथि भी बन सकती है जिसमें कामकाज को लेकर आपकी छवि बढ़े और लोगों की नज़रों में आपका कद बढ़े.

क्या करें –अपनी एकाग्रता इस रूप से बनाये रखें की आपकी समृधि में इजाफा हो सके पर साथ ही साथ किसी ऐसे विकल्प के बारे में भी सोचते चले जाएँ जो कामकाज के क्षेत्र में आपके लिए बड़ा परिवर्तन ला सके, पर ऐसा कुछ भी करना है तो मन में बहुत सारा धैर्य बनाकर करें ताकि आपकी मानसिक परेशानियाँ भी साथ ही साथ थमी रहें.

क्या न करें –सेहत को लेकर लापरवाही बिलकुल न करें. अगर आपको लग रहा है की कोई परेशानी संभली हुई है और रोज़मर्रा की परेशानी है तो भी जांच और इलाज़ कराने में देरी करते चले जाना ठीक नहीं है.

धनु(Sagittarius)–आपका भरोसा जगेगा और आप अपनों के लिए बहुत कुछ कर पाएंगे. ज़िन्दगी इसी रूप से आपके लिए बेहतर होती चली जा रही है की आप हर रूप से अपनों से जुड़े रहें, पर ऐसा करते हुए अपने मन में व्यर्थ की चिंताओं को बढाते चले जाना ठीक नहीं है.

क्या करें –अपनी प्रेरणा के दम पर बहुत कुछ संभाला जा सकता है लेकिन पैसे को लेकर किसी भी तरह का जोखिम उठाने से नुकसान भी हो सकता है. इस बात को भी समझना पड़ेगा की आप अपनी आर्थिक स्तिथि को किस रूप से बचा कर चलें. भावनाओं में बहकर फैसले करने से गलती भी हो सकती है.

क्या न करें –कामकाज से लाभ लगातार बना हुआ है इसलिए कामकाज के क्षेत्र में किसी भी तरह का परिवर्तन न करें. लोगों को ज्यादा समझने की कोशिश कर लें ताकि कामकाज की स्थिरता बनाने में आपको मदद मिल सके. अपनी क्षमताओं से बढ़कर किसी चीज़ में हाथ डालने से नुकसान हो सकता है और इस समय वही ठीक नहीं है.

मकर(Capricorn)–किसी भी तरह का यात्रा या बदलाव आपके लिए मुश्किलें पैदा कर सकता है, खासकर तब अगर आप किसी चीज़ को ज़ल्दबाज़ी में अंजाम देना चाहें, इसलिए सूझबूझ के साथ ही अपने कदम बढाने की जरूरत है.

क्या करें –अपनी बचत को बनाये रखना ही आपकी प्राथमिकता होनी चाहिए. अगर कोई चीज़ बहुत अच्छी लग रही है तो उसके बारे में भी जांच और परख कर लेना ज्यादा जरूरी है ताकि किसी भी तरह की ऐसी गलती से बचा जा सके जो भविष्य में जाकर आपको परेशान करे.

क्या न करें –कामकाज को लेकर आपके हालात संभले हुए हैं और कामकाज में या कारोबार में ज्यादा पैसा लगाने की भी जरूरत पड़ सकती है. ऐसे में किसी से कोई ऐसा उधार न लें जिसे लौटना मुश्किल होता चला जाए.

कुम्भ(Aquarius)–आर्थिक स्तिथि बरक़रार है पर खर्चों की बहुतायत की वजह से मानसिक परेशानियाँ बनी रह सकती हैं और उस वजह से आपको ज्यादा पैसा जुटाना पड़े ऐसी परिस्थितियां भी बन सकती हैं.

क्या करें –अपने अंदर बहुत सारी व्यवहारिकता लानी होगी. सूझबूझ से फैसले करने से पैसे से जुड़े फैसलों में अपनी अच्छाई को बनाया जा सकता है, यह भी बहुत बड़ी बात है.

क्या न करें –अपने ज्ञान और अपनी जानकारी को बढाने का जो भी मौका मिले उसे हाथ से न जाने दें क्योंकि ऐसा करने से आपके कामकाज में बढ़ोतरी हो सकती है. ज़िन्दगी के किसी भी समय में कोई न कोई प्राथमिकता जरूर होती है जिससे ध्यान हटा लेना कभी भी ठीक नहीं होता.

मीन(Pisces)–कामकाज की स्तिथि ऐसी बनी हुई है जिसमें बड़ा लाभ कमाया जा सकता है, बड़ी उपलब्धियों के रास्ते भी खुल सकते हैं, इसी वजह से थोड़ा सा भरोसा बनाये रखें ताकि आपके प्रदर्शन में इजाफा होता चला जाए.

क्या करें –काम को बढ़ावा देने का समय है जबकि पैसे से जुड़े दबाव बने रह सकते हैं, इसलिए पैसे की बजाए काम की ओर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत पड़ सकती है. वैसे भी अपनी बचत को संभाले रखने का समय है.

क्या न करें –घर-परिवार की परेशानियों को समय रहते संभालना होगा. किसी भी ऐसी गलती को दोहराते न चले जाएँ जिसने पहले भी आपको परेशान किया है, इसलिए अपने अंदर बहुत सारी विनम्रता ले आयें. लोगों के प्रति अपने विचारों को सख्त बनाते चले जाना भी ठीक नहीं है.



Post a Comment

0 Comments