पानी पर सियासतः तो क्या संसद को गुमराह किया है रामविलास पासवान ने

दिल्ली में पानी पर कोहराम है. प्रदूषण पर सियासत खूब हुई. इसी सियासत के बीच अचानक केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान सामने आए और एलान कर डाला कि दिल्ली का पानी पीने लायक नहीं है. हो सकता है वे सही हों. लेकिन दिल्ली ही इकलौता शहर तो है नहीं जहां का पानी दूषित है. हालांकि रामविलास पासवान दिल्ली में पानी तो पीते हैं लेकिन दिल्ली जल बोर्ड का नहीं वे बोतलबंद पानी पीते हैं. लेकिन मंत्री हैं तो जनता की चिंता थी उन्हें. उन्होंने आननफानन में रिपोर्ट का हवाला देते हुए एलान कर डाला कि दिल्ली का पानी पीने लायक नहीं है. संसद में भी उन्होंने इसी तरह का बयान दिया.

इस पर सियासत होनी ही थी हुई. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सवाल उठाए. चैनलों पर भी खूब चिल्लापों हुई. आरोप लगाए गए. आरोपों का जवाब दिया गया. लेकिन रामविलास पासवान की परेशानी तब बढ़ी जब एक समाचार चैनल ने उनके सच को सामने ला दिया. चैनल उन जगहों पर गया जहां से पानी के नमूने लेने की बात रामविलास पासवान ने की थी. पता चला कि वहां से नमूने लिए ही नहीं गए हैं और इलाके के लोग जल बोर्ड के पानी से संतुष्ट हैं.

अब दिल्ली में पानी की शुद्धता के मुद्दे पर झूठ फैलाने और दिल्ली की जनता को धोखा देने का आरोप लगाते हुए आम आदमी पार्टी ने केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान से इस्तीफे तक की मांग कर डाली है. आम आदमी पार्टी सांसद संजय सिंह ने प्रदूषित पानी की ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड्स रिपोर्ट पर मीडिया की रिपोर्ट का हवाला देते हुए पासवान से इस्तीफा मांगा है. जानकारी के मुताबिक मीडिया रिपोर्ट में दीपक कुमार रॉय का नाम, दिल्ली में जिन जगहों से पानी का नमूना लिया गया है उस सूची में है, लेकिन दीपक का कहना है कि उनके घर से पानी का नमूना लिया ही नहीं गया और उन्हें नहीं पता की उनका नाम पानी का सैंपल लेने वाले लोगों की सूची में कैसे आया. आप सांसद संजय सिंह ने कहा कि दिल्ली को बदनाम करने और दिल्ली के जल को प्रदूषित बताने वाले रामविलास पासवान का झूठ पकड़ा गया है. एक महत्त्वपूर्ण संवैधानिक पद पर रहते हुए ऐसा झूठ फैलाने वाले मंत्री जी को नैतिकता के आधार पर अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिये.

लेकिन इसी सियासी उठापट के बीच रामविलास पासवान ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को निशाना बनाया. पासवान ने पांच ट्वीट कर कहा कि अगर दिल्ली का पानी शुद्ध है तो अरविंद केजरीवाल जी यह घोषणा करें कि उनके सभी कार्यालयों से आरओ हटा लिया जाएगा, सभी सरकारी बैठकों में नल का पानी पिलाया जाएगा और दिल्ली सरकार पानी के मानक को मेंडेटरी करने की अनुशंसा करे. पासवान ने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि आप ने दावा किया है कि दीपक रॉय के घर से पानी का नमूना लिया ही नहीं गया है. यह बयान दीपक रॉय दबाव में आकर दे रहे हैं, क्योंकि बयान देते वक्त आप के विधायक उनके साथ बैठे हुए थे. बीआईएस के पास भी सबूत है कि रॉय के घर से नमूना लिया गया है.

केंद्रीय मंत्री ने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि यह भी कहा जा रहा है कि एक नमूना लोजपा के नेता के घर से लिया गया. तो क्या दिल्ली में रहने वाले लोजपा नेता को शुद्ध साफ पानी का अधिकार नहीं है. क्या साफ पानी सिर्फ आप नेताओं को मिलेगा. सारे अखबार और टीवी चैनल दिखला रहे हैं कि पूरी दिल्ली की जनता गंदे पानी से परेशान है. उन्होंने आगे लिखा कि केजरीवाल जी ने संयुक्त टीम में अपनी ओर से जल बोर्ड के उपाध्यक्ष सहित दो लोगों को नामित किया है, जिसमें उपाध्यक्ष राजनीतिक व्यक्ति हैं. मैंने साफ़ कहा है कि इसमें जल बोर्ड के सीईओ या समकक्ष अधिकारी को नामित करें.

उन्होंने लिखा कि जल बोर्ड और बीआईएस के संयुक्त रूप से पानी के नमूने इकट्ठे करने के लिए बीआईएस ने अपने 32 अधिकारियों की सूची जल बोर्ड के सीईओ को भेज दी है. केजरीवाल जी ने अभी तक दिल्ली जलबोर्ड के 32 अधिकारियों के नाम क्यों नहीं दिए हैं. दिल्ली में पीने के पानी की खराब क्वालिटी के विरोध में भाजपा ने आज फिर विरोध प्रदर्शन किया. भाजपा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर के बाहर प्रदर्शन किया. उन्होंने अरविंद केजरीवाल सरकार पर लोगों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ करने का आरोप लगाया. ये नेता पानी के नमूने लिए हुए थे. हाल की जारी बीआईएस रिपोर्ट के मुताबिक भारत के 21 बड़े शहरों में दिल्ली में पीने का पानी सबसे ख़राब था. लेकिन दरअसल केंद्र सरकार को चिंता लोगों की नहीं, चिंता वोटों की है. अगले साल की शुरुआत में दिल्ली में चुनाव होने हैं और चुनाव में वोट बटोरने के लिए ही यह सारा प्रपंच किया जा रहा है. भाजपा रामविलास पासवान के कंधे पर बंदूक रख कर अरविंद केजरीवाल को निशाना बनाने में लगी थी. लेकिन चैनलों ने भाजपा और रामविलास पासवान के सच को उजागर कर डाला.(राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



Post a Comment

0 Comments