राष्ट्रीय कुश्ती चैंपियनशिप में विनेश, साक्षी व अनीता ने जीता स्वर्ण

राष्ट्रीय कुश्ती चैंपियनशिप का दूसरा दिन हरियाणा की महिला पहलवान अनीता के नाम रहा. हरियाणा की 35 साल की अनीता ने लंबे समय बाद अखाड़े में वापसी की और 68 किलोग्राम वर्ग में रेलवे दिव्या काकरान को हरा कर बड़ा उलटफेर किया और स्वर्ण पदक जीता. जलंधर में खेली जा रही चैंपियनशिप में साक्षी मलिक और विनेश फोगाट ने भी स्वर्ण पदक जीता. यूं अनीता ने पिछले साल ही अखाड़े में फिर पांव धरा था लेकिन तब वे 65 किलोग्राम वर्ग में अखाड़े में उतरीं थीं और स्वर्ण पदक जीता था. एक बच्चे की मां अनीता ने सभी को अपने प्रदर्शन से हैरान किया और कॉमनवेल्थ कांस्य पदक विजेतादिव्या काकरान को हराया.

विनेश फोगाट और साक्षी मलिक ने रेलवे के लिए अपने-अपने वर्ग में स्वर्ण पदक जीते. दोनों ही स्टार पहलवानों को फाइनल में चुनौती का सामना करना पड़ा. विनेश ने 55 किलोग्राम वर्ग के फाइनल में 20 साल की हरियाणवी पहलवान अंजू का मुकाबला किया. फोगाट ने अपने तजुर्बे का पूरा फायदा उठाया और तीन अंक गंवाने के बाद 7-3 के साथ लगातार दूसरा राष्ट्रीय स्वर्ण पदक हासिल कर लिया.

रियो ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक ने 62 किलोग्राम वर्ग का स्वर्ण पदक जीता. हरियाणा की राधिका उनके सामने थीं जिन्होंने बेहतर प्रदर्शन तो किया, लेकिन वे साक्षी को स्वर्ण जीतने से नहीं रोक सकीं. साक्षी ने मैच को 4-2 से जीता और राधिका को रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा. 

पंजाब की गुरशरन कौर को स्थानीय दर्शकों का साथ मिला और उन्‍होंने हरियाणा की पूजा को 76 किलोग्राम वर्ग में हराकर स्वर्ण पदक हासिल किया. चंडीगढ़ की पहलवान नीतू ने भी अच्छी कुश्ती लड़ी लेकिन 57 किलोग्राम वर्ग में उन्हें सरिता मोर से हरा कर स्वर्ण पदक हासिल किया.

65 किलोग्राम वर्ग में हरियाणा की निशा ने रेलवे की नवजोत को 4-1 के अंतर से हराकर खिताब पक्का किया. रेलवे की पहलवान ज्यादा अंक हासिल नहीं कर सकीं. हरियाणा 215 अंकों के साथ पदक तालिका में सबस ऊपर है. (खेलों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



Post a Comment

0 Comments