सृष्टि पांडे और आराध्य गर्ग विश्व जूनियर शतरंज चैंपियनशिप में करेंगे भारत की नुमाइंदगी

महाराष्ट्र की सृष्टि पांडे और दिल्ली के आराध्य गर्ग ने विश्व जूनियर चैंपियनशिप में भारत की नुमाइंदगी करने का हक पा लिया है. चैंपियनशिप भारत में होनी है. गुरुग्राम सनसिटी स्कूल में खेली गई राष्ट्रीय जूनियर शतरंज चैंपियनशिप में दोनों खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन कर भारत की तरफ से खेलने का हक पाया. चैंपियनशिप का आयोजन गुरुग्राम शतरंज संघ ने हरियाणा शतरंज एसोसिएशन और भारतीय शतरंज फेडरेशन के सहयोग से किया था. नौ दिनों तक चली चैंपियनशिप में देश भर के तीन सौ प्रतिभाशाली खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया. फाइनल दौर के बाद सृष्टि और आराध्य ने चैंपियन बनने का गौरव पाया. इस अवसर पर मुख्य अतिथि गुड़गांव के विधायक सुधीर सिंगला थे. अखिल भारतीय शतरंज फेडरेशन के महासचिव भरत सिंह चौहान, दिल्ली शतरंज संघ के सचिव अजीत वर्मा, सनसिटी स्कूल की निदेशक रूपा चक्रवर्ती भी इस अवसर पर मौजूद थे.

सनसिटी स्कूल की निदेशक रूपा चक्रवर्ती ने खिलाड़ियों को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए बधाई दी. उन्होंने कहा कि यहां देश भर से आए हुए छात्रों को अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने के लिए एक बेहतरीन मंच था. इस प्रकार के टूर्नामेंट उन्हें अपने खेल को उच्च स्तर पर ले जाने का अवसर प्रदान करते हैं. उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि निजी स्कूलों को सरकारी स्कूलों की मदद के लिए आगे आना. चाहिए और उनके खिलाड़ी सरकारी स्कूलों के खिलाड़ियों को सिखा सकते हैं जिससे देश में शतरंज का स्तर और बेहतर हो सके.

जूनियर (अंडर -19) ओपन और जूनियर (अंडर-19) बालिका शतरंज चैंपियनशिप में कड़ी प्रतिस्पर्धा देखी गई और सभी खिलाड़ियों ने एक उत्कृष्ट प्रदर्शन किया. सुधीर सिंगला ने विजेताओं को सम्मानित किया और उनकी उपलब्धि पर उन्हें बधाई दी. टूर्नामेंट की विजेता सृष्टि पांडे ने अपने अनुभव को साझा किया और कहा कि यह मेरे लिए सर्वश्रेष्ठ टूर्नामेंटों में से एक रहा है और सीखने का एक शानदार अनुभव था. मुझे अभी लंबा रास्ता तय करना है और मैं इस प्रदर्शन को जारी रखना चाहती हूं. मैं अन्य खिलाड़ियों को ध्यान न भटकने देने का और साथ ही शतरंज में रुचि नहीं खोने का सुझाव देना चाहूंगीं.



Post a Comment

0 Comments