पहली बार मायावती ने तोड़ी बीएचयू में मुस्लिम शिक्षक के विवाद पर चुप्पी, बोली प्रशासन के...

बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने पहली बार बनारस हिन्दू विवि में मुस्लिम शिक्षक की नियुक्ति मामले पर अपनी चुप्पी तोड़ दी है। विवि में इस समय शिक्षक फिरोज खान को लेकर राजनीति चरम पर है। कुछ छात्र उनके विरोध में हैं तो कुछ समर्थन में भी आ गए हैं। इसी वजह से मायावती ने भी इस मामले में ट्विट किया है। उन्होंने प्रशासन को आड़े हाथों लिया है।

फिरोज खान की नियुक्ति पर विवाद

बीएचयू में असिस्टेंट प्रोफेसर फिरोज खान की नियुक्ति का विरोध हो रहा है। फिरोज खान संस्कृत शिक्षक हैं लेकिन कुछ छात्र उनके विरोध में आ गए हैं और उनके संस्कृत टीचर बनने का विरोध कर रहे हैं। हालांकि दूसरी ओर विवि के ही कुछ छात्र उनके समर्थन में आ खड़े हुए हैं। वहीं विवि प्रशासन ने उनकी नियुक्ति को पूरी तरह से वैध करार दिया है और उनका समर्थन किया है।

जानें क्या बोलीं बसपा प्रमुख मायावती

बसपा प्रमुख मायावती का भी इस प्रकरण पर बयान आ गया है। मायावती ने ट्विट कर कहा है कि शिक्षा को दर्म और जाति से जोड़ना सही नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रशासन के ढुल मुल रवैये की वजह से ही मामले ने तूल पकड़ लिया है। बसपा मुखिया बोलीं कि बीएचयू के एक योग्य शिक्षक को नियुक्त करना प्रतिभा को सही प्रश्रय देना है। उन्होंने योगी सरकार से इस मामले में ध्यान देने को कहा है।

दोस्तो आपको क्या लगता है मायावती का बयान कैसा है, कमेंट में बताएं और न्यूज शेयर करें। हर अपडेट के लिए आप मुझे फॉलो जरूर करें। धन्यवाद।।

(न्यूज सोर्स- amarujala.com, twitter.com)



Post a Comment

0 Comments