पीबीएल की नीलामी में सबसे महंगी भारतीय खिलाड़ी बनीं पीवी सिंधू

प्रीमियर बैडमिंटन लीग में भारत की स्टार शटलर और विश्व चैंपियन पीवी सिंधू पर नीलामी में सबसे ज्यादा बोली लगी. वे इस बार भी अपनी पुरानी टीम हैदराबाद हंटर्स से ही खेलेंगी लेकिन इस बार उनकी कीमत में उछाल हुआ है. वे लीग की सबसे महंगी भारतीय खिलाड़ियों में शामिल हो गईं हैं. हैदराबाद हंटर्स ने सिंधू को 77 लाख रुपए की बोली लगा कर खरीदा. दुनिया की नंबर एक महिला खिलाड़ी चीनी ताइपे की ताइ जू यिंग को पिछली चैंपियन बंगलुरु रैपटर्स ने खरीदा. जू पर भी 77 लाख रुपए की बोली लगी और वे संयुक्त रूप से सर्वोच्च कीमत वाली खिलाड़ी बन गईं हैं. रैपटर्स ने बोली में पुणे सेवन एसेस को पछाड़कर ताइ जू को अपने साथ जोड़ा.

भारत के शीर्ष खिलाड़ियों में शामिल बी साई प्रणीत को रैपटर्स की टीम ने 32 लाख रुपए खर्च कर अपने साथ बरकरार रखा. चेन्नई सुपरस्टार्स ने पुरुष डबल्स खिलाड़ी बी सुमित रेड्डी को 11 लाख रुपए जबकि पुणे सेवन एसेस ने चिराग शेट्टी को साढ़े पंद्रह लाख रुपए खर्च करके अपने साथ जोड़े रखा. दुनिया की नौवें नंबर की अमेरिकी महिला सिंग्लस खिलाड़ी बेइवान झेंग भी अवध वारियर्स के साथ बरकरार रहेंगी जिनके लिए टीम ने 39 लाख रुपए खर्च किए. राष्ट्रीय बैडमिंटन कोच पुलेला गोपीचंद की बेटी गायत्री गोपीचंद को चेन्नई की टीम ने चुना जबकि असम की युवा खिलाड़ी अश्मिता चालिहा को उनकी घरेलू टीम नार्थ ईस्टर्न वारियर्स ने तीन लाख रुपए में खरीदा. पीबीएल के पांचवें सत्र की चमक हालांकि उस समय कुछ फीकी हो गई जब लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता साइना नेहवाल और किदांबी श्रीकांत ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर पर ध्यान देने के लिए इस टूर्नामेंट से हटने का फैसला किया.

रेंकीरेड्डी और सिंधु के अलावा कनाडा ओपन के फाइनल में पहुंचने वाले पारुपल्ली कश्यप तीसरे महंगे भारतीय खिलाड़ी रहे, 2014 कॉमनवेल्थ चैंपियन कश्यप को मुंबई रैकेटस ने 43 लाख रुपए की राशि में खरीदा. इसके अलावा पिछले दो महीने में चार खिताब जीत चुके युवा खिलाड़ी लक्ष्य सेन को सीजन-दो की चैंपियन चेन्नई सुपरस्टार्ज ने 36 लाख रुपए की राशि में अपनी टीम में खरीदा. 

कोरिया के वर्ल्ड नंबर-22 डबल्स खिलाड़ी सो सुंग हयून और हांगकांग के वर्ल्ड नंबर-24 एकल खिलाड़ी ली चेयूक यूई ही ऐसे खिलाड़ी रहे जो 50 लाख रुपए की राशि तक पहुंच सके. हयून को अवध वॉरियर्स ने 55 लाख रुपए में जबकि चेयूक को नॉर्थ ईस्टर्न वॉरियर्स ने 50 लाख रुपए की राशि देकर अपने साथ जोड़ा. 

पुणे 7 एसेस की टीम मालकिन तापसी पन्नु ने कहा कि विश्व चैंपियन हेंद्र सेतियावान, राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता क्रिस एडकॉक और हमारे भारतीय स्टार चिराग शेट्टी के नेतृत्व में हमारे पास एक अच्छी टीम है. ऋतुपर्णा दास, मिथुन मंजूनाथ और कुहू गर्ग के होने से हमारी टीम एक शानदार संतुलित टीम है. पीबीएल के पांचवें सीजन के लिए सात टीमों के बीच मौजूदा चैंपियन बेंगलुरू रैप्टर्स और अवध वॉरियर्स ने अपने-अपने हिस्से के दो करोड़ रुपए खर्च कर दिए जबकि पुणे 7 एसेस ने सबसे कीफायती बोली लगाते हुए दो करोड़ रुपए में से 23.5 लाख रुपए बचा लिए. नीलामी में कुल 154 खिलाड़ी शामिल हुए, जिसमें से 71 खिलाड़ियों की सफल बोली लगी. पुणे और चेन्नई मात्र दो ऐसी टीमें रही, जिन्होंने 11 खिलाड़ियों का अधिकतम कोटा पूरा किया. 

पीबीएल का अगला सत्र 20 जनवरी से नौ फरवरी तक खेला जाएगा जिसमें 74 भारतीय खिलाड़ी हिस्सा लेंगे. बंगलुरु, चेन्नई, हैदराबाद और लखनऊ में होने वाली इस 21 दिवसीय प्रतियोगिता में सात टीमें अवध वारियर्स (लखनऊ), बंगलुरु रेपटर्स (बेंगलुरु), मुंबई राकेट्स (मुंबई), हैदराबाद हंटर्स (हैदराबाद), चेन्नई सुपरस्टार्स (चेन्नई), नार्थ ईस्टर्न वारियर्स (पूर्वोत्तर) और पुणे 7 एसेस (पुणे) की टीमें हिस्सा लेंगी. (खेलों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



Post a Comment

0 Comments