महाराष्ट्र में सियासी घमासान पर पहली बार शरद पवार ने तोड़ा मौन, बोले एनसीपी को...

महाराष्ट्र में सियासी घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। भारतीय जनता पार्टी सबसे बड़ी पार्टी बनने के बाद भी वहां सरकार बनाने में कामयाब नहीं हो पा रही है। इसकी वजह है शिवसेना के बागी तेवर जिससे दोनों दलों के बीच तालमेल नहीं हो पा रहा है। शिवसेना अब दूसरे विकल्प भी तलाश रही है जिनमें एनसीपी सबसे पहले नंबर पर है। इसी बीच महाराष्ट्र में जारी सियासी घमासान पर पहली बार एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने चुप्पी तोड़ दी है। उन्होंने एनसीपी का रुख साफ कर दिया है।

चुनाव में तीसरी सबसे बड़ी पार्टी है एनसीपी

महाराष्ट्र चुनाव की बात करें तो भारतीय जनता पार्टी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। इसके बाद 56 सीटों के साथ शिवसेना और 54 सीटों के साथ एनसीपी का नंबर है। शिवसेना भारतीय जनता पार्टी पर एनसीपी के साथ जाने का दबाव बनाकर ही अपनी शर्तें मनवाना चाहती है। हाल ही में शिवसेना नेता संजय राउत ने एनसीपी प्रमुख शरद पवार से भी बात की।

जानें क्या बोले एनसीपी प्रमुख शरद पवार

महाराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना के बीच बात नहीं बन पा रही है तो सबकी निगाहें अब एनसीपी पर टिक गई हैं। हालांकि पहली बार पार्टी के मुखिया शरद पवार ने चुप्पी तोड़ दी है और अपना रुख साफ कर दिया है। शरद पवार ने बयान दिया है कि एनसीपी को जनता ने विपक्ष में बैठने के लिए चुना है। इसलिए अब उनकी पार्टी विपक्ष में बैठेगी। इसके साथ ही उन्होंने संजय राउत से मुलाकात पर भी चुप्पी तोड़ी। वो बोले कि संजय मुझसे मिलने तो आए थे लेकिन शिवसेना के बारे में उनसे कोई बात नहीं हुई।

दोस्तो आपको क्या लगता है शिवसेना को अब तो भाजपा के सामने झुकना ही पड़ेगा या नहीं, कमेंट में बताएं और न्यूज शेयर करें। हर अपडेट के लिए आप मुझे फॉलो जरूर करें। धन्यवाद।।

(न्यूज सोर्स- aajtak.indiatoday.in)



Post a Comment

0 Comments