महाराष्ट्र में अबकी बार, ठाकरे सरकार

महाराष्ट्र की सियासत में नए रंग घुले. कई अनहोनी हुई. सियासत में नए दोस्त बने तो दुश्मन भी नए बने. साथ-साछ चुनाव लड़ने वाली भाजपा-शिवसेना अब एक-दूसरे के विरोध में खड़े हैं तो अलग-अलग लड़े कांग्रेस-राकांपा गठबंधन शिवसेना के साथ मिल कर महागठबंधन बना कर महाराष्ट्र की सत्ता पर काबिज हो गया है. लेकिन नया यह भी हुआ कि पहली बार ठाकरे परिवार का कोई सदस्य सीधे सत्ता के शीर्ष पर जा बिराजा. उद्धव ठाकरे अब महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री हैं और कांग्रेस व राकांपा के साथ मिल कर कदमताल कर रहे हैं. यानी महाराष्ट्र में इस बार ठाकरे परिवार का कब्जा हो गया.

उद्धव ठाकरे को मुंबई के शिवाजी पार्क में आयोजित भव्य शपथ ग्रहण समारोह में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई. इसी के साथ महाराष्‍ट्र में की 'महा विकास अघाड़ी' की सरकार बनी और नेता के रूप में उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. उद्धव ठाकरे के साथ-साथ तीनों पार्टियों के छह नेताओं ने भी काबीना मंत्री के रूप में शपथ ली. इनमें शिवसेना के कोटे से एकनाथ शिंदे और सुभाष देसाई, राकांपा के कोटे से जयंत पाटिल और छगन भुजबल, कांग्रेस के कोटे से बालासाहेब थोराट और नितिन राउत शामिल हैं.

भव्य शपथ ग्रहण समारोह में राकांपा प्रमुख शरद पवार, पूर्व मुख्यमंत्री दवेंद्र फडणवीस, रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी और उनकी पत्नी नीता अंबानी, राज ठाकरे, राकांपा नेता सुप्रिया सुले, कांग्रेस के अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खड़गे, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन भी मौजूद थे. तीनों पार्टियों के गठबंधन को महाराष्ट्र विकास अघाड़ी नाम दिया गया है. तीनों दलों के बीच कई दौर की बैठकों के बाद यह तय किया गया कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे होंगे और सिर्फ एक ही उप मुख्यमंत्री होगा वह भी राकांपा का. इसके अलावा कांग्रेस को स्पीकर का पद दिया जाएगा. हालांकि अभी तक उप मुख्यमंत्री और स्पीकर का नाम तय नहीं हो पाया है.

इससे पहले महाराष्ट्र विकास अघाड़ी का न्यूनतम साझा कार्यक्रम भी सामने आया. राकांपा प्रवक्ता नवाब मलिक, शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे और राकांपा नेता जयंत पाटील ने साझा प्रेस कॉंफ्रेंस कर सरकार के न्यूनतम साझा कार्यक्रम की जानकारी दी. महाराष्ट्र में नई सरकार के न्यूनतम साझा कार्यक्रम में किसान, रोजगार, धर्मनिरपेक्षता और विकास की बात की गई है. शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे ने कहा कि सरकार सभी जाति प्रांत के लोगों को साथ लेकर आगे चलेगी. किसी भी तरह का भेदभाव किसी के साथ नहीं किया जाएगा. शिवसेना नेता ने बताया कि बारिश से पीड़ित किसानों को फौरन मदद दी जाएगी और किसानों का कर्ज तुरंत माफ किया जाएगा. 

एकनाथ शिंदे ने बताया कि मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना की शुरुआत की जाएगी. एक रुपए में इलाज वाले क्लीनिक खोले जाएंगे. राज्य के हर शख्स का स्वास्थ्य बीमा होगा. युवाओं को बिना किसी ब्याज के एजुकेशन लोन मिलेगा और सरकार में खाली पदों को तुरंत भरा जाएगा. इसके अलावा राज्य में निवेश बढ़ाने की हर संभव कोशिश की जाएगी, आईटी में निवेश बढ़ाने के लिए नीतियों में भी सुधार किया जाएगा और झुग्गी में रहने वालों को पांच सौ फुट जमीन मुफ्त मिलेगी. (राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



Post a Comment

0 Comments