वनडे क्रिकेट में रन तो ढेरों बनाए लेकिन छक्का नहीं लगा पाए

केट पांच दिनों से होता हुआ वनडे मुकाबले में बदला और फिर टी-20 क्रिकेट ने इसे और भी बदला. फटाफट क्रिकेट ने दर्शकों को लुभाया भी और मनोरंजन भी कराया. वनडे और टी-20 क्रिकेट में छक्कों की धूम रहती है. छक्के लगाने वाले बल्लेबाजों की कमी भी नहीं है. टी-20 क्रिकेट ने तो इसे और भी धार दिया है और बल्लेबाज दनादन कर रन बटोरते हैं. बल्लेबाज गेंद को बाउंड्री के पार भेजने में महारत हासिल कर चुके हैं. क्रिस गेल, रोहित शर्मा, कॉलिन मुनरो और एबी डिविलियर्स जैसे बल्लेबाजों के लिए छक्के उड़ाना अब आम बात हो गई है. अपने युवराज सिंह को तो सिक्सर किंग कहा जाने लगा था. लेकिन कुछ बल्लेबाज ऐसे भी हैं जो अपने पूरे करिअर में एक भी गेंद को हवाई रास्ते से बाउंड्री के पार नहीं पहुंचा सके. जानते हैं कुछ ऐसे बल्लेबाजों के बारे में जिन्होंने अपने पूरे वन डे करिअर में एक भी छक्का नहीं लगाया.

कैलम फर्गुसन (ऑस्ट्रेलिया): ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज कैलम फर्गुसन ने 2009 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा था. उन्होंने तीस एकदिवसीय मैचों में अपने देश की नुमाइंदगी की. फर्गुसन ने चालीस से ज्यादा के औसत से 663 रन बनाए थे. उन्होंने पांच अर्धशतक जड़े थे, लेकिन वन डे करिअर में उन्होंने एक भी छक्का नहीं मारा.

मनोज प्रभाकर (भारत): भारतीय क्रिकेट में मनोज प्रभाकर एक जाना-पहचाना चेहरा और नाम है. भारतीय क्रिकेट में उनकी हैसियत ऑलराउंडर की थी. वे ओपनर होने के साथ ही मध्यम गति के तेज गेंदबाज भी थे. उन्होंने अपने करिअर में कुल 130 वनडे मैच खेले. प्रभाकर ने 98 पारियों में 1,858 रन बनाए थे. इस हरफनमौला खिलाड़ी ने दो शतक के साथ 11 हाफ सेंचुरी भी जड़े थे. इसके बावजूद वे अपने वन डे करिअर में एक भी छक्का नहीं लगा पाए.

ज्योफ्री बॉयकॉट (इंग्लैंड): वन डे करिअर में छक्का न मारने वालों में इंग्लैंड के महान बल्लेबाज व ओपनर ज्योफ्री बॉयकॉट का नाम भी शामिल है. उन्होंने वनडे में एक हजार से ज्यादा रन बनाए. ज्योफ्री ने वन डे मैचों में पांच हाफ सेंचुरी के साथ एक शतक भी जड़ा था. हालांकि, उन्होंने अपने वऩडे करिअर में एक भी छक्का नहीं उड़ा पाए थे.

थिलन समरवीरा (श्रीलंका): वन डे करिअर में एक भी छक्का न मारने वालों में श्रीलंका के बल्लेबाज थिलन समरवीरा का नाम भी शामिल है. उन्होंने अब तक 53 वनडे मैचों में श्रीलंका का प्रतिनिधित्व किया है. समरवीरा ने दो शतक की मदद से 42 पारियों में कुल 862 रन बनाए. लेकिन समरवीरा भी एक भी छक्का नहीं उड़ा सके.

डियॉन इब्राहिम (जिंबाब्वे): वन डे मैचों में एक भी छक्का न मारने वालों की सूची में जिंबाब्वे के बल्लेबाज डियॉन इब्राहिम का नाम भी शामिल है. उन्होंने अपने देश के लिए 82 वनडे खेला. लेकिन वे इन मैचों में एक शतक के साथ ही चार हाफ सेंचुरी भी जमाई थी. इसके बावजूद डियॉन इब्राहिम एक भी छक्का नहीं लगा पाए. (क्रिकेट पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



Post a Comment

0 Comments