अयोध्या मामला: यूपी समेत अन्य राज्यों में सुरक्षा को लेकर किए गए कड़े इंतजाम

उत्तर प्रदेश में अयोध्या समेत सभी जिलों में सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजाम किए गए है। यूपी में 11 तारीख यानि सोमवार तक स्कूलों को बंद रखने का निर्देश जारी किया गया है। राज्य में धारा 144 लागू कर दी गई है। चप्पे-चप्पे पर पैरामिलिट्री फोर्स का पहरा लगा हुआ है। पूरे प्रदेश में सुरक्षाबलों की 47 कंपनियां तैनात हैं। 1600 स्थानों पर 16 हजार वॉलंटियर तैनात है। अयोध्या जिले को चार जोन- रेड, येलो, ग्रीन और ब्लू में बांटा गया है। 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर प्रदेशवासियों से अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की है। योगी ने कहा, प्रशासन सभी की सुरक्षा व प्रदेश में कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए पूरी तरह कटिबद्ध है। कोई भी व्यक्ति यदि कानून व्यवस्था के साथ खिलवाड़ करने की कोशिश करेगा, तो उसके विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। 

उत्तर प्रदेश के पुलिस बल हर प्रकार की परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार है। कानून व्यवस्था बनाए रखने के पर्याप्त मात्रा अलग अलग स्थानों पर पुलिस बल मौजूद है। बांदा में भी सुरक्षा को लेकर पूरे इंतजाम किये गए हैं। मध्यप्रदेश के खंडवा में भी पुलिस बलों की तरफ से सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए है। राज्य में सभी शिक्षण संस्थानों को बंद रखा गया है। 

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के आने वाले फैसले के मद्देनजर देश की वित्तीय राजधानी मुंबई में भी पुलिस बल चौकस है और सुरक्षा में लगे हुए है। जम्मू-कश्मीर में भी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। जम्मू के 10 जिलों में धारा 144 लागू कर दी गई है। सभी सरकारी और निजी स्कूल और कॉलेज आज बंद रहेंगे।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा, मेरी अपील है कि माननीय उच्चतम न्यायालय के संभावित फैसले को जीत-हार से जोड़कर कतई न देखा जाए। हरियाणा प्रशासन सभी की सुरक्षा व प्रदेश में शांति बनाए रखने के लिए दृढ़ संकल्पित है। कानून व्यवस्था के खिलाफ जाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने ट्वीट कर कहा कि, अयोध्या राम मंदिर पर शनिवार सुबह फैसला आने वाला है। झारखण्ड के सभी नागरिकों से अपील है कि फैसला जो भी हो हम उसे सहर्ष स्वीकार करें। किसी प्रकार की अफवाह पर ध्यान न दें। कोई अफवाह फैलाये तो इसकी सूचना प्रशासन को दें। प्रशासन शिकायत पर त्वरित कार्यवाही करे। 

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि, प्रदेश में अमन-चैन और सद्भाव बनाए रखने के लिए हमारी सरकार संकल्पित है। जिला कलक्टर,एसपी को सामूहिक जिम्मेदारी दी है कि वे बेहतर समन्वय के साथ काम करते हुए ऐसी किसी भी घटना के प्रति सतर्क रहें जिससे माहौल बिगड़ने की आशंका हो। मेरी सभी से अपील है कि शांति और सद्भाव बनाए रखें। हमारे सामाजिक सौहार्द पर कोई असर न पड़े। सभी धर्मों, जाति एवं समुदायों में आपसी सद्भाव एवं भाईचारे की हमारी महान परम्परा रही है।



Post a Comment

0 Comments