महाराष्ट्र विकास अघाड़ी की मैराथन बैठक, स्पीकर कांग्रेस व उप मुख्यमंत्री राकांपा का होगा

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की ताजपोशी की तैयारी पूरी हो गई है. वे महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री के तौर पर उसी शिवाजी पार्क मैदान में शपथ लेंगे, जहां कभी बालासाहेब ठाकरे हुंकार भरा करते थे. ठाकरे परिवार के वे पहले मुख्यमंत्री होंगे. शपथग्रहण समारोह की सभी तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं. इस बीच राकांपा-कांग्रेस-शिवसेना के वरिष्ठ नेताओं की छह घंटे तक मैराथन बैठक बुधवार को हुई. बैठक में मंत्रिंडल के आकार पर चर्चा हुई और जो समाचार मिल रहे हैं उसके मुताबिक बैठक में तय हुआ कि महाराष्ट्र में सिर्फ एक ही उप मुख्यमंत्री होगा, वह भी राकांपा के कोटे से. बैठक के बाद राकांपा नेता प्रफुल्ल पटेल ने बताया कि महाराष्ट्र में 'महाराष्ट्र विकास अघाड़ी' की सरकार बनने में अब कोई संदेह नहीं है. तीनों पार्टियों के वरिष्ठ नेताओं की बैठक में यह तय किया गया है कि महाराष्ट्र में एक ही उप मुख्यमंत्री होगा और वह एनसीपी का होगा. इसके अलावा कांग्रेस को स्पीकर का पद देने पर भी सहमति बनी है. प्रफुल्ल पटेल ने कहा कि गुरुवार को उद्धव ठाकरे के साथ हर दल के एक-दो मंत्री शपथ लेंगे.

इस बीच सूत्रों के मुताबिक खबर है कि राकांपा नेता अजित पवार को एक बार फिर विधायक दल का नेता चुना जा सकता है और उन्हें उपमुख्यमंत्री बनाया जा सकता है. भाजपा सरकार में उप मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद उन्हें इस पद से हटा दिया गया था. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के अठाहरवें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे. वे मनोहर जोशी और नारायण राणे के बाद इस पद पर काबिज होने वाले शिवसेना के तीसरे नेता हैं. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे 24 अक्टूबर को घोषित होने के एक महीने बाद उद्धव ठाकरे (59) मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे.

उद्धव ठाकरे के शपथ ग्रहण समारोह के लिए शिवाजी पार्क और उसके आसपास सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. पुलिस अधिकारियों ने यह जानकारी दी. शिवसैनिकों का शिवाजी पार्क से भावनात्मक जुड़ाव रहा है, जहां पार्टी के संस्थापक दिवंगत बाल ठाकरे दशहरा रैली को संबोधित किया करते थे. बाल ठाकरे के पुत्र उद्धव ने भी इस परंपरा को बकरार रखा. बाल ठाकरे का अंतिम संस्कार भी शिवाजी पार्क के एक कोने में किया गया था, जिसे शिवसैनिक "शिवतीर्थ" कहते हैं. शपथ ग्रहण समारोह में विभिन्न पार्टियों के नेताओं को आमंत्रित किया गया है.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बनने के ऐलान के बाद मंगलवार को उद्धव ठाकरे ने कहा था कि मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि राज्य का संचालन करूंगा. मैं इसके लिए सोनिया गांधी समेत अन्य लोगों को धन्यवाद देता हूं. उद्धव ने कहा कि मुख्यमंत्री के तख़्त पर कई कांटे हैं. उन्होंने भाजपा नेता और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर हमला करते हुए कहा कि वे कहते हैं कि हम झुक गए, लेकिन हम झुके नहीं बल्कि साथ आए हैं. उन्होंने कहा कि हम इस महाराष्ट्र को एक बार फिर वैसा महाराष्ट्र बनाएंगे जिसका कभी छत्रपति शिवाजी महाराज ने सपना देखा था. (राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



Post a Comment

0 Comments