पान मसाला के कई ब्रांड के सेंपल हुए फेल, लैब की जांच रिपोर्ट में हुआ खुलासा

प्रतिबंधित पदार्थों की मिलावट सामने आते ही विभाग ने दिए रजनीगंधा, विमलपान मसाला, बहार सलेक्ट व पान बहार की जब्ती के आदेश, तीन दिन का दियाअल्टीमेटम

जयपुर, कासं। पान मसालों में मिलावट को लेकर शुरू किए गए अभियान को अब और बल मिल गया। प्रदेश में बड़े स्तर पर बिक रहे मैग्नीशियम, निकोटिन व मिनरलयुक्त पान मसाले पर प्रतिबंध लगाने के आदेशों के बाद खाद्य प्रयोगशाला की ओर से जारी की गई रिपोर्ट में चौकानें वाले तथ्य सामने आए हैं। रिपोर्ट के अनुसार जिन पान मसालों में प्रतिबंधित घातक पदार्थ पाए गए हैं। इसके बाद विभाग ने बड़ा कदम उठाते हुए मिलावटी व सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे कैंसर कारक पान मसालों के रिकॉल के आदेश जारी कर दिए हैं। रजनीगंधा, विमल पान मसाले व बहार सलेक्ट व पान बहार पान मसाले में प्रतिबंधित पदार्थों की मिलावट के बाद बाजार से घातक पान मसाले हटाने के आदेश जारी कर दिए हैं लेकिन विभाग की ओर से सख्ती किए जाने के दावे खोखले साबित हो रहे हैं। अभी तक विभाग की ओर से कागजों में विमल, बहार सलेक्ट व पान बहार पान मसाले को बाजार से हटाने के निर्देश जारी कर दिए लेकिन हकीकत में कोई कार्रवाई नहीं हुई।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से प्रदेशभर में पान मसाले के मुख्य ब्रांडों के सेंपल लिए गए। उनमें कई ब्रांडों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हो गई। इनमें रजनीगंधा, विमल पान मसाला, बहार सलेक्ट, पान बहार प्रमुख है। जयपुर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने इन ब्रांडों से जुड़ी कंपनी, सीएंडएफ व डिस्ट्रीब्यूटरों को रिकॉल के आदेश जारी करते हुए इन मिलावटी पान मसाले के चिह्नि्त बैच को हटाने के निर्देश जारी किए हैं। इसके बाद भी जहरकारक तत्वों वाले पान मसाले की प्रदेश में धड़ल्ले से बिक्री हो रही है और स्वास्थ्य महकमा आंख मूंदे बैठा है।

स्वास्थ्य विभाग की जांच रिपोर्ट में जहरकारक तत्वों की मिलावट पाए जाने के साथ ही इसे अनसेफ फूड घोषित कर दिया गया लेकिन इसके बाद भी विभाग केअफसर सख्त कार्रवाई की सरकार की मंशा पर पानी फेरने में जुटे हुए हैं।उधर पान मसाले के सीएंडएफ बाबूलाल धामाणी का कहना है कि चिकित्सा एवं
स्वास्थ्य विभाग ने हमारे यहां से कोई सेंपल नहीं लिया, अन्य कहीं से लिया हो और उसकी रिपोर्ट में बहार सलेक्ट अनसेफ हुआ तो हम क्या कह सकते हैं। कई पान मसाले नकली भी तो बिक सकते हैं। हमारे पास अभी जांच रिपोर्ट नहीं आई है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी नरोत्तम शर्मा के अनुसार मैगÝीशियमव मिनरल ऑयल की मौजूदगी वाले पान मसालों की जब्ती के आदेश जारी कर दिएहैं। उक्त बैच के पान मसाले हटाने की कार्रवाई जल्द की जाएगी। तीन दिन काअल्टीमेटम दिया है पान मसाला विक्रेताओं को।फूड इंस्पेक्टरों के अनुसार रजनीगंधा, विमल पान मसाला, बहार सलेक्ट व पानबहार का सेंपल फेल हो गया। इसके बाद उक्त पान मसाले के ब्रांड से जुड़ीकंपनी व डिस्ट्रीब्यूटरों को नोटिस जारी कर बाजार से मिलावटी पान मसालाहटाने का अल्टीमेटम दे दिया है। रजनीगंधा का सेंपल सी-स्कीम स्थित डिपोसे, बहार सलेक्ट का सेंपल वैशाली नगर स्थित बहार सलेक्ट के डिस्ट्रीटर,विमला पान मसाले का सेंपल विद्याधर नगर स्थित सावन एंटरप्राइजेज व पानबहार का सेंपल अग्रसेन ट्रेडर शास्त्री नगर से लिया गया जो कि लेबोरेट्रीकी जांच में उक्त नमूने फेल हो गए।

ऐसे है यह पान मसाला बीमारियों का द्योतक


स्वास्थ्य विभाग के अफसर इस जहर कारक पान मसाले को अवैध रूप से बिकवा रहे हैं। बीमारियों को न्यौता दे रहे पान मसाले के सेवन से कई मरीज अस्पतालों में भर्ती है लेकिन कंपनियां मुनाफा कमाने के लालच में लोगों के जीवन से खिलवाड़ कर रही है। मैग्नीशियम कार्बोनेट हानिकारक पदार्थ है जिसका उपयोग किए जाने पर घातक बीमारियां होती है। इसतरह का उत्पाद बेचना जहर बेचने जैसा है। बेचने व उत्पाद करने वाले अच्छीतरह जानते हैं कि इससे खाने वालों की जिदगी खतरे में पड़ जाती है। इसके बावजूद कंपनी व अफसरों की मिलीभगत से लाभ कमाने के लालच में लोगों के जीवन से खिलवाड़ किया जा रहा है।

हाईलाइट


- पान मसालों के दाने-दाने में कैंसर का दम । केसर नहीं, कैंसर जैसी कई बीमािरयों का भी दम रजनीगंधा, विमल, बहार सलेक्ट व पान बहार में मिले कई घातक प्रतिबंधित पदार्थ पान मसाले में कई तत्वों की मिली मिलावट खाद्य योग्य नहीं है उक्त पान मसाले, नूमने हुए फ़ेल मुख्य खाद्य विष्लेषक स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट में हुआ खुलासा पान मसाला ब्रांड ग्राहकों को - कर रहा भ्रमित अघुलनशील पदार्थों की भी मिली भारी मौजूदगी स्वास्थ्य के लिए भारी खतरा साबित हो सकते हैं ऐसे पदार्थ
- तय मानदंडों को फॉलो नहीं कर रहा पान मसाला ब्रांड पान मसाला के कई
- ब्रांड के सेंपल हुए फेल, लैब की जांच रिपोर्ट में हुआ खुलासा प्रतिबंधित पदार्थों की मिलावट सामने आते ही विभाग ने दिए रजनीगंधा, विमल पान मसाला, बहार सलेक्ट व पान बहार की जब्ती के आदेश, तीन दिन का दिया अल्टीमेटम



Post a Comment

0 Comments