हे राम ! पहले गोडसे को देशभक्त कहा, अब माफी मांगी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने

मालेगांव बम धमाके की आरोपी और भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने लोकसभा में गोडसे पर अपने दिए बयान के लिए माफी तो मांग ली लेकिन भाजपा की इससे जो फजीहत हुई उससे पार्टी के भीतर काफी गुस्सा है. दरअसल भाजपा को वे फिर कब बैकफुट पर ढकेल दें, यह बात पार्टी को भी पता है कि वे विवादित बयान देने में कोताही नहीं करेंगी और इससे पार्टी की फिर किरकिरी हो सकती है. पार्टी आलाकमान उन्हें समझा नहीं पा रहा है या यह भी कहें कि प्रज्ञा सिंह ठाकुर समझना नहीं चाह रहीं हैं.

गोडसे पर दिए गए बयान के मामले में भोपाल से भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने दोबारा लोकसभा में माफी मांगी. अपना बयान पढ़ते हुए प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि उन्होंने नाथूराम गोडसे को देशभक्त नहीं कहा है लेकिन अगर फिर भी किसी को ठेस पहुंची है तो वे माफी मांगती हैं. महात्‍मा गांधी के हत्‍यारे नाथुराम गोडसे को लेकर प्रज्ञा ठाकुर ने जो बयान दिया था, उस पर संसद में पहले उन्होंने सफाई दी. प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि मेरे बयान को तोड़मरोड़ कर पेश किया गया.

प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि बापू की देश सेवा का मैं सम्‍मान करती हूं. सदन में सफाई पेश करते हुए प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा कि इसी सदन के एक सदस्य ने मुझे आतंकवादी कहा. अदालत से दोष साबित हुए बगैर किसी को भी आतंकवादी कहना कानून के खिलाफ है. ये एक महिला, एक सांसद और एक महिला का अपमान है. प्रज्ञा ठाकुर के माफी मांगने के बाद लोकसभा में विपक्षी सांसदों ने जमकर हंगामा किया. महात्‍मा गांधी के नारे लगाए. कांग्रेस के सांसद प्रज्ञा ठाकुर को निलंबित करने की मांग कर रहे थे.

प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा था कि प्रज्ञा ठाकुर जो बोल रही हैं वही भाजपा और आरएसएस की आत्‍मा है. इसके खिलाफ किसी तरह की कार्रवाई की मांगकर मैं अपना समय गंवाना नहीं चाहता हूं. राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा कि आतंकवादी प्रज्ञा ने आतंकवादी गोडसे को एक देशभक्त कहा है. यह भारतीय संसद के इतिहास में एक दुखदायी दिन है.

प्रज्ञा ठाकुर ने सदन में अपने बयान पर सफाई पेश करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर निशाना साधा और कहा कि मुझे आतंकी कहा गया है, यह कानून के खिलाफ है. भाजपा की ओर से कई नेताओं ने इस मुद्दे पर प्रज्ञा ठाकुर का साथ दिया और कांग्रेस नेता राहुल गांधी की आलोचना की. गुरुवार को सदन में इसी मसले पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अपने बयान में कहा था कि गांधी के लिए ऐसी सोच रखने की भी मैं निंदा करता हूं. प्रज्ञा ठाकुर ने लोकसभा चुनाव के दौरान भी गोडसे को देशभक्‍त करार दिया था उस समय पीएम नरेंद्र मोदी ने भी इसकी निंदा की थी और कहा था कि मैं इसके लिए उन्‍हें कभी माफ नहीं कर पाऊंगा. प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने माफी तो मांग ली है लेकिन अभी कई सवाल बाकी हैं. राहुल गांधी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का मामला भी सदन में वे पेश कर सकती हैं. दूसरी तरफ राहुल गांधी ने कहा कि वे अपनी बात पर कायम हैं. (राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



Post a Comment

0 Comments