संविधान और देश को विभाजन से बचाने के लिए पूरा देश आवाज उठाए: प्रियंका

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर शनिवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर तीखा हमला करते हुए अपील की कि संविधान को बचाने और देश को विभाजन से बचाने के लिए सभी आवाज उठाएं। प्रियंका ने कांग्रेस की ओर से यहंा आयोजित ;;भारत बचाओ रैली में कहा, ;; यह देश प्रेम का देश है। अभहसा का देश है। युवाओं के सपनों का देश है। यह ऐसा देश है जिसके फौजी देश के लिए जान देने का जज्बा रखते हैं। उन्होंने कहा, हमें इस देश को बचाना है क्योंकि इस पर एक ऐसी सरकार का साया है जिसमें समानता नहीं है।

प्रियंका ने कहा, ;;पहले पूरी दुनिया हमारी तरफ देख रही थी। विकास हो रहा था। आज भाजपा की सरकार में रोजगार बढऩे की बजाय घट रहा है। महंगाई बढ़ रही है। छोटे और मझोले व्यापारी परेशान हैं। उन्होंने कहा, ;;असलियत यह है कि यदि भाजपा है तो 45 साल में सबसे ज्यादा महंगाई मुमकिन है। नागरिकता संशोधन कानून का हवाला देते हुए कांग्रेस महासचिव ने कहा, इस सरकार में ऐसे कानून बन रहे हैं जिससे देश का संविधान खतरे में है। यह विभाजनकारी है।

उन्होंने कहा, मैं कश्मीर से अरुणाचल तक सबसे कहना चाहती हूँ कि आप अपनी आवाज उठाइये। अगर हम चुप रहेंगे तो आम्बेडकर द्वारा लिखा गया संविधान खत्म हो जाएगा और देश का बंटवारा जो जाएगा। प्रियंका ने कहा, आज चारों तरफ अन्याय है। महिलाएं असुरक्षित हैं। सभी को मिलकर भारत को बचाना है। हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र भसह हुड्डा ने कहा कि किसान बर्बाद हो रहा है। उसके लिए सभी कार्यकर्ता जमीन पर लड़ें।

उल्लेखनीय है कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन भसह, कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी और राहुल गांधी के नेतृत्व में कंाग्रेस पार्टी शनिवार को दिल्ली के रामलीला मैदान में ;भारत बचाओ रैली आयोजित कर रही है। इस रैली का उद्देश्य भाजपा सरकार की ल्लविभाजनकारी– नीतियों को उजागर करना है। इस रैली में मनमोहन भसह, सोनिया गांधी, राहुल गांधी के अलावा राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और कंाग्रेस के अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद हैं। -(एजेंसी)



Post a Comment