जामा मस्जिद में ही मौलाना आजाद ने मुसलमानों से कसम ली थी, पाकिस्तान नहीं जाने की

अभिनेता और निर्देशक अनुराग कश्यप सोशल मीडिया से बहुत दिनों तक दूर नहीं रह पाए. बेटी को धमकी दिए जाने के बाद उन्होंने ट्विटर को अलविदा कहने का मन बना लिया था. लेकिन देश के सियासी और सामाजिक हालात की वजह से वे फिर सोशल मीडिया पर सक्रिय हो गए हैं. वे सोशल मीडिया पर हाल ही में लौटे हैं और लगातार नागरिकता संशोधन कानून और देश के माहौल को लेकर वे ट्वीट कर रहे हैं. अभिनेता एजाज खान भी इस कानून को लेकर सक्रिय हैं और उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी औरगृह मंत्री अमित शाह से कहा है कि जामा मस्जिद की इन सीढ़ियों पर से ही मौलाना आजाद ने 1947 में देश के बंटवारे से कसम ली थी. जामा मस्जिद की सीढ़ियों पर भीम सेना के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने इस कानून की मुखालफत में संग्राम किया था.

अनुराग कश्यप न सिर्फ समसामयिक मसलों पर अपनी राय रखते हैं बल्कि वे ट्रोलर्स को भी करारा जवाब देते हैं. अनुराग कश्यप ने एक ट्वीट किया है जिसमें उन्होंने लिखा है कि नरेंद्र मोदी का विरोध करना देशद्रोह नहीं है. अनुराग कश्यप का ट्वीट खूब वायरल हो रहा है. अनुराग कश्यप ने नरेंद्र मोदी को लेकर ट्वीट किया है कि मोदी की भक्ति, देशभक्ति नहीं है. मोदी का विरोध देशद्रोह नहीं है. मोदी भारत नहीं हैं. अनुराग कश्यप के ट्वीट पर प्रतिक्रिया भी खूब आरही है. उन्हें फिर धमकियां मिल रहीं हैं. कोई उन्हें गोली मारने की बात कह रहा है तो कोई गालियां दे रहा है. गोली और गाली खा कर भी अनुराग चुप नहीं बैठे हैं. इसी तरह की एक प्रतिक्रिया को उन्होंने मोदी जी से टैग कर कहा है, दखें अपने भक्तों को.

Third party image reference

नुराग कश्यप ने 16 दिसंबर को ट्वीट पर दोबारा वापसी की थी. अनुराग कश्यप ने इस साल अगस्त में ट्विटर को अलविदा कह दिया था जब उनके परिवार को धमकियां मिलने लगी थीं. अनुराग कश्यप ने अपना पहला ट्वीट किया था कि बात बहुत आगे तक निकल चुकी है. अब और चुप नहीं रह सकता. यह सरकार स्पष्ट रूप से फासीवादी है...लेकिन यह बात मुझमें और गुस्सा भर देती है कि जो लोग कुछ बदलाव ला सकते हैं वह पूरी तरह से खामोश हैं. इस तरह अनुराग कश्यप फिर से ट्विटर पर आए और छा गए.

नागरिकता संशोधनकानून को लेकर उत्तर प्रदेश में राजव्यापी विरोध प्रदर्शन को देखते हुए उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ओपी सिंह ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की थी. उन्होंने ट्वीट कर यह जानकारी भी दी थी कि पूरे प्रदेश में धारा 144 लागू रहेगी और किसी भी सभा के लिए कोई अनुमति नहीं दी गई है. कृपया कोई भी व्यक्ति किसी भी सभा में भाग न लें. माता-पिता से भी अनुरोध है कि वे अपने बच्चों की काउंसलिंग करें. यूपी पुलिस के डीजीपी के इस ट्वीट पर भी अनुराग ने ट्वीट किया था. अनुराग ने धारा 144 लगाने के कदम को आपातकाल की संज्ञा दी थी. उन्होंने कहा था कि आपातकाल दोबारा आ चुका है. उत्तर प्रदेश में इस कानून को लेकर हुए प्रदर्शन में पंद्रह से ज्यादा लोगों के मारे जाने की बात कही जा रही है.

Third party image reference

दिल्ली के जामिया मिल्लिया इस्लामिया और यूपी में अलीगढ़ मुस्लिम युनिवर्सिटी के छात्र नागरिकता संशोधन बिल पर प्रदर्शन कर रहे थे. लेकिन पुलिस की बर्बरता के बाद यह प्रदर्शन हिंसा में बदल गई. अभिनेता और बिग बॉस कंटेस्टेंट रह चुके एजाज खान ने नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में जामा मस्जिद की एक फोटो शेयर की. इस फोटो में जामा मस्जिद की सीढ़ियों पर ही भारी संख्या में लोग एनआरसी और सीएए का विरोध करते दिखाई दे रहे हैं. एजाज खान की शेयर की गई जामा मस्जिद की यह फोटो सोशल मीडिया पर भी खूब वायरल हो रही है.

एजाज खान ने ट्वीट भी किया, जिसमें उन्होंने लिखा कि 1947 में जामा मस्जिद की इन सीढ़ियों पर ही मौलाना आज़ाद ने मुसलमानों से कहा था कि आओ अहद (क़सम) करो कि यह मुल्क हमारा है. हम इसी के लिए हैं और इसकी तक़दीर के बुनियादी फैसले हमारी आवाज़ के बगैर अधूरे ही रहेंगे. अफसोस कि अब वुजूद की लड़ाई लड़नी पड़ रही है. एजाज खान का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है, साथ ही लोग इसपर खूब रिएक्शन भी दे रहे हैं.एजाज खान के साथ-साथ पुल्कित सम्राट, ऋचा चड्ढा, स्वरा भास्कर, सयानी गुप्ता, सुशांत सिंह, हुमा कुरैशी और जीशान अय्यूब जैसे दिग्गज कलाकारों ने भी नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ जमकर ट्वीट किया था.(राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).

Third party image reference



Post a Comment