विविधता में एकता, भारत की विशेषता: पीएम

दिल्ली के रामलीला मैदान से पीएम नरेंद्र मोदी ने नागरिकता कानून पर सरकार का रूख साफ किया। पीएम मोदी ने नागरिकता कानून को लेकर देशभर में मचे बवाल पर कहा कि यह कानून देश के हिंदू-मुस्लिमों के लिए नहीं है। विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा कि लोगों को गुमराह कर देश को डर और अराजकता के माहौल में धकेलने की साजिश हो रही है। प्रदर्शनकारियों को हिंसा न करने और विपक्षी दलों की ऐसी साजिश को नाकाम करने की अपील करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मेरा पुतला जला लो, लेकिन संपत्ति जलाने की जरूरत नहीं है और पुलिस जनता की दुश्मन नहीं है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि नागरिकता संशोधन बिल के पास होने के बाद कुछ राजनीतिक दल तरह-तरह की अफवाहें फैलाने में लगे हैं, लोगों को भ्रमित कर रहे हैं, भावनाओं को भड़का रहे हैं। किस तरह अपने स्वार्थ के लिए, अपनी राजनीति के लिए किस हद तक जा रहे हैं, ये आपने पिछले हफ्ते भी देखा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से अपील की है नागरिकता संशोधन कानून पर झूठी अफवाहें पर धयान ना दें। झूठ बेचने वाले, अफवाह फैलाने वाले इन लोगों को पहचानने की ज़रूरत है। ये 2 तरह के लोग हैं। उन्होंने कहा कि एक वो लोग जिनकी राजनीति दशकों तक वोटबैंक पर ही टिकी रही है। दूसरे वो लोग जिनको इस राजनीति का लाभ मिला है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि स्कुलों बसों पर हमले हुए, ट्रेनों पर हमले हुए, मोटर साइकिलों, गाड़ियों, साइकिलों, छोटी-छोटी दुकानों को जलाया गया है, भारत के ईमानदार टैक्सपेयर के पैसे से बनी सरकारी संपत्ति को खाक कर दिया गया है। इसके बाद इनके इरादे कैसे हैं, ये देश अब जान चुका है. प्रधानमंत्री ने एन आर सी को लेकर स्पष्ट किया किसी को भी डिटेंशन सेंटर में नहीं भेजा जाएगा.



Post a comment