राष्ट्रीय महिला मुक्केबाजी चैंपियनशिप में रितुज का दमदार प्रदर्शन

केरल के कुन्नूर में खेली जारही चौथी इलीट महिला मुक्केबाजी राष्ट्रीय चैंपियनशिप की सोमवार को मुंडायाद इंडोर स्टेडियम में शुरुआत हुई जिसमें 33 टीमों की 235 मुक्केबाज हिस्सा ले रही हैं. चैंपियनशिप के पहले दिन कुल 23 मुकाबले हुए. पंजाब की मीनाक्षी (48 किलोग्राम भारवर्ग) ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए मेघालय की इवा मारबानजांग को 5-0 से हराया. चंडीगढ़ की रितुज ने भी जीत के साथ शुरुआत की और पहली बार केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख का प्रतिनिधित्व कर रहीं डेचेन को तकनीकी दक्षता से मात दी. 

48 किलोग्राम भारवर्ग में ही केरल की अंचू साबू ने घरेलू समर्थकों के सामने बंगाल की मनिका कुमारी को दूसरे राउंड में तकनीकी दक्षता के बूते बाहर कर जीत हासिल की. दिन का सबसे रोचक मुकाबला असम की प्रिया गोरह और मध्य प्रदेश की अंजली शर्मा के बीच खेला गया. 48 किलोग्राम भारवर्ग के इस मैच में प्रिया ने 3-2 से जीत हासिल की. 

चौथे संस्करण में भारत की कुछ शीर्ष और कुछ बेहतरीन प्रतिभाशाली मुक्केबाज देखने को मिलेंगी. इनमें विश्व चैंपियनशिप की रजत पदक विजेता सोनिया चहल (57 किलोग्राम भारवर्ग), जूनियर यूथ चैंपियन ज्योति गुलिया (51 किलोग्राम भारवर्ग), 2017 यूथ विश्व चैंपियन शशि चोपड़ा (60 किलोग्राम भारवर्ग), प्रेसिडेंट कप में पदक जीतने वाली मोनिका (48 किलोग्राम भारवर्ग), कोलोग्ने विश्व कप स्वर्ण पदक विजेता मीनाकुमारी देवी (54 किलोग्राम भारवर्ग) और इंडिया ओपन की स्वर्णं पदक विजेता भाग्यवती कचारी (81 किलोग्राम भारवर्ग) राष्ट्रीय विजेता के खिताब के लिए लड़ेंगी. 

मुक्केबाज कुल दस भारवर्गों, 48, 51, 54, 57, 60, 64, 69, 75, 81 और 81 प्लस किलोग्राम भारवर्ग में रिंग में उतरेंगी. इस बार लद्दाख की टीम पहली बार राष्ट्रीय चैंपियनशिप में हिस्सा ले रही है. पिछले साल हरियाणा ने पहला स्थान हासिल किया था जबकि रेलवे दूसरे स्थान पर रही थी. प्रिलिमीनिएरी राउंड के मैच शुरुआती चार दिन खेले जाएंगे और इसके बाद छह दिसंबर से नॉकआउट दौर शुरू होंगे. फाइनल आठ दिसंबर को होगा. 



Post a Comment

0 Comments