बिपिन रावत के सीडीएस बनते ही भड़क उठे मनीष तिवारी, बोले मोदी सरकार ने...

मोदी सरकार ने बड़ा फैसला लेते ही तीनों सेनाओं के प्रमुख का पद सृजित किया है और इस पद पर पहली नियुक्ति जनरल बिपिन रावत की हुई जो इससे पहले थलसेनाध्यक्ष थे। वो मंगलवार को रिटायर हो रहे थे। इसी के साथ उनको सरकार ने सीडीएस पद पर नियुक्त कर दिया। हालांकि इस मुद्दे पर भी राजनीति शुरू हो गई है। कांग्रेस ने मोदी सरकार के इस फैसले पर सवाल उठा दिए हैं। कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने इस बारे में आपत्ति दर्ज करवाई है।

तीनों सेनाओं में करेंगे बेहतर तालमेल

बिपिन रावत तीनों सेनाओं के प्रमुख बन गए हैं। उनकी नियुक्ति 31 दिसंबर से प्रभावी मानी जाएगी। मोदी सरकार की योजना के मुताबिक तीनों सेनाओं में बेहतर तालमेल के लिए इस पद की जरूरत थी। इसी वजह से पद बनाया गया और बिपिन रावत को देश का पहला चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बनाया गया। हालांकि मोदी सरकार का ये फैसला भी राजनीति की भेंट चढ़ गया है।

जानें क्या बोले कांग्रेस नेता मनीष तिवारी

सीडीएस पद को लेकर कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने चुप्पी तोड़ दी है। उन्होंने कहा है कि मोदी सरकार ने ये कदम गलत उठाया है। मनीष तिवारी बोले कि तीनों सेनाओं के प्रमुख जो रक्षामंत्री को अपनी रिपोर्ट देते हैं वो क्या अब सीडीएस के माध्यम से देंगे। इसके साथ ही वो बोले कि रक्षा सचिव की तुलना में सीडीएस की शक्तियां क्या होंगी।

दोस्तो आपको क्या लगता है मनीष तिवारी का सवाल कैसा है, कमेंट में बताएं और न्यूज शेयर करें। हर अपडेट के लिए आप मुझे फॉलो जरूर करें। धन्यवाद।।

(न्यूज सोर्स- news18.com)



Post a Comment