पहली बार मनमोहन सिंह ने तोड़ी भारत बचाओ रैली में चुप्पी, बोले मोदी...

भारतीय जनता पार्टी की सरकार को घेरने के लिए भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने दमदार प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है। दिल्ली के रामलीला मैदान में कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी से लेकर चिदंबरम और मनमोहन सिंह ने भी भारत बचाओ रैली में हिस्सा लिया। इस दौरान सभी बड़े नेताओं ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। वहीं पहली बार मनमोहन सिंह ने भी चुप्पी तोड़ दी और मोदी सरकार के खिलाफ बड़ा बयान दे दिया है।

Google Image

सोनिया से लेकर राहुल ने भाजपा को घेरा

भारत बचाओ रैली में शनिवार को सोनिया गांधी ने भाजपा पर सियासी वार किए। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ये कैसे अच्छे दिन लेकर आई है कि जनता का पैसा बैंकों में भी सुरक्षित नहीं रह गया है। उन्होंने कहा अपना पैसा घरों में और बैंकों में भी नहीं रख सकते हैं। वहीं उन्होंने नागरकिता संशोधन बिल को भारत की आत्मा को तार तार करने वाला बताया।

राहुल बोले, नहीं मांगूंगा माफी

राहुल गांधी ने भी भारत बचाओ रैली में मोदी सरकार पर वार किए। वो बोले कि कांग्रेसी बब्बर शेर होता है और किसी से नहीं डरता है। राहुल ने कहा कि सरकार भारत की अर्थव्यव्स्था को कमजोर कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार देश को बांट रही है। उन्होंने साफ कह दिया कि वो माफी नहीं मांगेंगे। वहीं प्रियंका गांधी बोलीं कि यह देश अच्छाई और सच्चाई का सपना है। यह देश लोकतंत्र को शक्ति देने वाला है।

Google Image

अब जानें क्या बोले मनमोहन सिंह

भारत बचाओ रैली में पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने भी अपनी चुप्पी तोड़ी। उन्होंने मोदी सरकार पर जमकर वार किए। मनमोहन बोले कि मोदी सरकार ने लोगों से वादा किया था कि भारत की अर्थव्यवस्था को तीन ट्रिलियन का कर देंगे। साथ ही किसानों से आय दोगुनी करने का वादा किया था। मनमोहन ने कहा कि युवाओं से भी नौकरी का वादा किया था। पूर्व पीएम ने कहा कि ये साफ हो गया है कि ये सारे वादे झूठे थे और मोदी सरकार नाकाम रही है।



Post a comment