कोरोना वायरसः चीन में मरने वालों की संख्या 170 तक पहुंची, भारत में भी पहले मामले की पुष्टि

चीन में कोरोना वायरस का कहर बना हुआ है, चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने गुरूवार को बताया कि 38 और लोगों के जान गंवाने के बाद देश में इस वायरस से मृतक संख्या 170 के पार हो गयी है । वहीं संक्रमण के कुल 7711 मामलों की पुष्टि हुई है। चीन के वित्त मंत्रालय ने कहा है कि चीन ने कोरोना वायरस के खिलाफ पूरे देश में लड़ाई छेड़ने के लिए 27.3 अरब युआन की राशि आवंटित की है, वहीं जैक मा तथा बिल एंड मेलिंडा गेट्स के संगठन भी मदद कर रहे हैं। इस बीच कोरोना वायरस पर लगाम लगाने के मकसद से वैक्सीन विकसित करने के लिए अनुसंधान बढ़ाने को भी धन दिया जा रहा है।

चीन काफी अच्छे तरीके से इस वायर को नियंत्रिक कर रहा है, हम दूसरे देसों से भी अपील करते हैं कि वो भी राजनीतिक और तकनीकी तीकत से जल्द से जल्द इस वायरस को फैसने से रोकने में मदद करें)

केरल में कोरोना वायरस के एक मामले की पुष्टि की  है, जो भारत का पहला मामला है । एक छात्र की जांच के नतीजे पॉजिटिव पाए जाने के बाद उसे अस्पताल में अलग रखा गया है।

कोरोना वायरस के संपर्क में आने की आशंका के चलते समूचे महाराष्ट्र में कम से कम 10 व्यक्तियों को तीन अस्पतालों में अलग-थलग वार्ड में रखा गया है। केंद्रीय  स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से पूरी सावधानी बरती जा रही है, चीन से भारत आने वालों की जांच जारी है। देश में अब तक 43 हजार से ज्यादा लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग हो चुकी है । कैबिनेट सचिव ने सभी संबधित मंत्रालयों के साथ बैठक कर राज्यों के अधिकारियों से बात की है, स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि भारत से लोगों के चीन जाने पर परहेज करने को कहा गया है, जो लोग चीन से 15 जनवरी के बाद आए हैं उन्हें 14 दिन तक अपने घर में आइसोलेशन में रहे साथ ही उन्हें अस्पताल में आकर अपनी जांच कराने की अपील की कई है।

इस बीच भारत में विदेश मंत्रालय ने साफ किया है कि दुनिया में किसी भी भारतीय को कोरोना वायरस संक्रमण का अभी कोई केस नहीं है, मंत्रालय ने कहा है कि उसने चीन में रह रहे 600 भारतीयों से संपर्क किया है और उनसे भारत वापस आने को लेकर उनकी मर्जी पूछी है।

दुनिया के तमाम हिस्सों में भी कोरोना वायरस का खतरा फैल रहा है ।  इज्राइल ने अपनी चीन जाने वाली उड़ानें रद्द कर दी है, रूस ने चीन के साथ लगी सीमा बंद कर दी है, वहीं चीन में खतरनाक कोरोना वायरस का केंद्र बने वुहान से जापान के उन तीन लोगों को वापस बुला लिया गया जिनकी जांच में उनके इस वायरस से संक्रमित होने का पता चला है।
 



Post a comment