करंट लगने से भाग नहीं सके, फ्लैट में आग लगने से जीडीए सुपरवाइजर सहित 3 की दर्दनाक मौत

 
गाजियाबाद

यूपी के गाजियाबाद स्थित एक फ्लैट में आग लगने से 3 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। घटना विजयनगर थाना क्षेत्र के प्रताप विहार के सेक्टर-11 की है। जीडीए की 10 मंजिला बिल्डिंग के पहले फ्लोर पर संदिग्ध हालात में आग लगने की सूचना के पर पुलिस और दमकल की टीम जब तक बिल्डिंग तक पहुंची, तब तक तीनों की मौत हो चुकी थी। बताया जा रहा है कि आग लगने के वक्त तीनों टीवी देख रहे थे।

 पुलिस ने शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। सीएफओ सुनील सिंह ने बताया कि हादसे में बच्चू सिंह (48), उनकी पत्नी रानी (45) और बच्चू सिंह के भाई नारायण सिंह (45) की मौत हो गई है। सीओ फर्स्ट धर्मेंद्र चौहान ने बताया कि आग कैसे लगी, इसकी जांच की जा रही है।

पत्नी और भाई के साथ देख रहे थे टीवी
जानकारी के अनुसार बच्चू सिंह अपने परिवार के साथ फ्लैट में रहते थे। उनके तीन बच्चे राखी, गुलशन और प्रथम भी हैं। बच्चे नाटक मंडली में काम करते हैं और कुछ दिन से राजस्थान गए हैं। पुलिस के अनुसार प्राथमिक जांच में पता लगा है कि घर में एक बेड पर तीनों टीवी देख रहे थे। बेड के नीचे हीटर चल रहा था। सीएफओ ने बताया कि मौके पर हीटर का केबल जला हुआ मिला है। आशंका है कि हीटर की वजह से आग लगी हो।
 
करंट लगने से नहीं भाग सके!
पुलिस के अनुसार घटनास्थल को देखने के बाद लग रहा है कि केबल में ब्लास्ट के बाद लोहे के बेड में करंट आ गया जिससे तीनों भाग नहीं पाए। इसके बाद शॉर्ट सर्किट से लगी से आग से तीनों झुलस गए और उनकी मौत हो गई। हालांकि, पूरे प्रकरण की जांच की जा रही है। राजस्थान गए बच्चों के साथ रिश्तेदारों को भी इसकी जानकारी दे दी गई है।

जीडीए में सुपरवाइजर थे बच्चू सिंह
पुलिस के अनुसार बच्चू सिंह जीडीए में सुपरवाइजर थे और परिवार के साथ जीडीए की बिल्डिंग में रहते थे। उनके भाई नारायण दिव्यांग थे। सीओ ने बताया कि पूरे कमरे की जांच की जा रही है। आसपास के सीसीटीवी फुटेज को चेक किया जा रहा है। हालांकि, प्राथमिक जांच में यह घटना हादसा लग रही है।



Post a comment