AIIMS में घायल छात्रों से मिलकर बोलीं प्रियंका गांधी- कई छात्रों के हाथ-पैर टूटे

 
नई दिल्ली 

दिल्ली में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में हिंसा के बाद घायलों को एम्स में भर्ती कराया गया है. वहीं इन घायलों से मिलने अब कांग्रेस महासचिव एम्स ट्रामा सेंटर पहुंच चुकी हैं. उनके साथ दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा भी मौजूद हैं. एम्स ने जानकारी दी है कि अस्पताल में 18 लोगों को एडमिट कराया गया है.

घायल छात्रों से मिलने के बाद प्रियंका ने ट्वीट किया, एम्स ट्रॉमा सेंटर में घायल छात्रों ने मुझे बताया कि गुंडों ने परिसर में प्रवेश किया और उन पर लाठी और अन्य हथियारों से हमला किया. कई लोगों को गंभीर चोटें आई हैं. एक छात्र ने कहा पुलिसन ने उसके सिर पर कई बार घुसा मारा.
 
वहीं, एक अन्य ट्वीट में प्रियंका गांधी ने लिखा, इस सरकार की बड़ी दिक्कत है, जो अपने ही बच्चों पर हिंसा को भड़काती और अनुमति देती है.
 
बता दें कि जेएनयू परिसर में रविवार शाम नकाबपोश लोगों ने घुसकर हमला किया. हमले में जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आईशी घोष बुरी तरह घायल हो गईं. वहीं, ये भी बताया जा रहा है कि नकाबपोश लोगों ने छात्रों के साथ-साथ प्रोफेसरों पर भी हमला किया.

लेफ्ट ने इस हमले के लिए ABVP पर आरोप लगाए . वहीं, ABVP ने हमले के लिए लेफ्ट की छात्र इकाइयों को दोषी ठहरा रहा है. जेएनयू छात्रसंघ का कहना है कि उनकी अध्यक्ष आइशी घोष और कई दूसरे स्टूडेंट्स को ABVP के सदस्यों ने पीटा है. सामने आए वीडियो और तस्वीर में जेएनयूएसयू अध्यक्ष आइशी घोष खून से लथपथ नजर आईं. 

वहीं, JNU में हुई हिंसा के बाद केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर से बात की है. गृहमंत्री अमित शाह ने निर्देश दिए हैं कि आईजी लेवल की एक अधिकारी की कमेटी बनाकर जल्द ही गृह मंत्रालय को रिपोर्ट दी जाए.

बता दें कि विश्वविद्यालय कैंपस में नकाबपोश हमलावरों ने छात्रों को न केवल मारा पीटा, बल्कि बुरी तरह से कैंपस में तोड़फोड़ भी की है. कैंपस के भीतर के छात्रों ने जो वीडियो शेयर किए हैं, उसमें साफ दिख रहा है कि हमलावर बुरी तरह से तोड़फोड़ की है. वहीं इस मामले की जांच संयुक्त सीपी रैंक अधिकारी शालिनी सिंह करेंगी.



Post a comment