राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द के अभिभाषण के साथ शुरु हुआ संसद का बजट सत्र

राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द के अभिभाषण के साथ आज संसद के बजट सत्र की शुरूआत हुई। अपने अभिभाषण में  राष्ट्रपति ने कहा कि विरोध के नाम पर हिंसा देश को कमजोर करती है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि सरकार का स्पष्ट मत है कि पारस्परिक चर्चा-परिचर्चा तथा वाद-विवाद लोकतंत्र को और सशक्त बनाते हैं. विरोध के नाम पर किसी भी तरह की हिंसा, समाज और देश को कमजोर करती है। उन्होंने कहा कि सीएए कानून बापू के वादे को पूरा करता है।
 



Post a Comment