शुक्रवार से शुरु हो रहा है संसद का बजट सत्र, सरकार और लोकसभा अध्यक्ष ने की अलग-अलग सर्वदलीय बैठक

सरकार की ओर से बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी आदि मौजूद थे। इसके अलावा बीजेपी कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, आरजेडी, एलजेपी, बीजेडी, डीएमके, आरएसपी और वाम दलों समेत 26 दलों के के नेता बैठक में पहुंचे। बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सरकार विपक्ष की राय सुनने और हर मुद्दे पर चर्चा करने के लिए तैयार है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अर्थव्यवस्था सहित सभी मुद्दों पर सार्थक और समृद्ध चर्चा होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था को वैश्विक संदर्भ में देखें कि भारत इसका फायदा कैसे उठा सकता है। सरकार ने बजट सत्र के दौरान 45 विधेयक पेश करने के लिये चिन्हित किये हैं। इनमें से सात वित्तीय विषय से जुड़े हैं तथा दो अध्यादेश से जुड़े हैं। सर्वदलीय बैठक में विपक्षी दलों ने  सीएए, एनपीआर, एनआरसी, अर्थव्यवस्था की स्थिति, कश्मीर की स्थिति सहित कई मुद्दे उठाये और इन पर चर्चा कराने की मांग की तो सरकार की ओर से कहा गया है विपक्ष को आत्मावलोकन करना चाहिए क्योंकि सीएए लोकतांत्रिक तरीके से संसद में पारित हुआ है।

देर शाम लोकसभा अध्यक्ष की भी सर्वदलीय बैठक में भी तमाम दलों के नेता पहुंचे । लोकसभा अध्यक्ष ने सभी दलों से सदन को चलाने में सहयोग मांगा।

गौरतलब है कि संसद के बजट सत्र का पहला चरण शुक्रवार से शुरू होगा। पहले दिन राष्ट्रपति का अभिभाषण होगा । साथ ही शुक्रवार को ही आर्थिक सर्वेक्षण भी पेश होगा। शनिवार एक फरवरी को बजट पेश होगा। संसद सत्र का पहला चरण ग्‍यारह फरवरी तक चलेगा। एक महीने के अंतराल के बाद संसद का अगला सत्र दो मार्च से शुरू होकर तीन अप्रैल तक चलेगा। बजट सत्र में कुल 39 बैठकें होगी।
 



Post a Comment