जम्मू-कश्मीर के लोगों से संवाद के लिए केंद्रीय मंत्रियों के प्रदेश दौरे का आखिरी दिन

केंद्र सरकार के मंत्री इन दिनों जम्मू कश्मीर के लगातार दौरे कर रहे हैं ताकि केंद्र शासित प्रदेश के सर्वांगीण विकास के लिए बनायी जा रही नीतियों और कार्यक्रमों के लागू होने की सूचनाओ का प्रचार एवं प्रसार किया जा सके। अभियान के सातवें और आखिरी दिन शुक्रवार को तमाम केंद्रीय मंत्री अलग अलग इलाकों में पहुंचे और लोगों से बातचीत की।

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद प्रदेश के अपने दौरे के दूसरे दिन आतंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित सोपोर इलाके में थे। उन्होंने यहां 10 प्रतिनिधिमंडलों से मुलाकात की उन्होंने कई विकास परियोजनाओं की भी शुरुआत की। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि केंद्र सरकार प्रदेश के चौतरफा विकास के लिए प्रतिबद्ध है और यहां जल्द ही विकास की नयी सुबह आएगी।

केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक  श्रीनगर में आयोजित दो दिवसीय ओरियंटेशन कार्यक्रम में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने श्रीनगर के 25 स्मार्ट स्कूलों और कश्मीर जिले में शिक्षा विभाग की परियोजनाओं का उद्घाटन किया।

सरकार की तमाम योजनाओं और उनके कामों से स्थानीय लोग काफी खुश दिखे। 

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कई योजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन किया। वित्त आयोग की योजनाओं के तहत ग्रामीण विकास और पंचायती मंत्रालय द्वारा किए गए कामों का उद्घाटन किया। ग्रामीण विद्युतीकरण योजना के तहत 33 किलोवाट रिसीविंग स्टेशन का शुभारंभ किया गया। पर्यटन के लिहाज से महत्वपूर्ण शुद्ध महादेव से रामनगर वाया डूडू बसंत गढ विस्तारीकरण योजना का शिलान्यास किया गया। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने एक अन्य कार्यक्रम में स्कूलों को स्पोर्ट्स किट्स बांटे। गिरिराज सिंह ने लोगों को केंद्र सरकार की ओर से हर विकास योजनाओं का लाभ राज्य के लोगों तक पहुंचाने का भरोसा दिया।

एक और केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने पुंछ के तहसील मंडी का दौरा किया। यहां एक तरफ प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना में बनाई जाने वाली 20 किलो मीटर लम्बी मंडी गगड़ियां सड़क की आधारशिला रखी तो लोगों की समस्याएं भी सुनी। उन्होंने कहा कि पहले की सरकारों ने प्रदेश को नज़र अंदाज़ किया है लेकिन अब जम्मू कश्मीर के हर शहर हर गांव का विकास होगा।

केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी और फग्गन सिंह कुलस्ते ने भी कई इलाकों का दौरा कर लोगों की समस्याएं जानी और प्रदेश के विकास का सरकार का संकल्प व्यक्त किया।

बदलते दौर में पहली बार केंद्रीय मंत्रियों का दौरा संवाद के सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए आम लोगों से मिल कर उनकी की समस्या को समझने और  सरकार की महत्पूर्ण योजनाओं की जानकारी देने की कवायद है। दौरे में फलैगशिप स्कीम के तहत लोगों की समस्याओं को सुन कर उसका हल निकाला जारहा है।



Post a comment