फ़ांसी के चार फंदे

फांसी के समय सामान्यता जेल के अंदर एक ही फांसी का तख्ता होता है, जिस पर फांसी की सजा पाए व्यक्ति को तब तक लटकाया जाता है, जब तक वो मर ना जाए. निर्भया के 4 दोषियों को जल्द ही फांसी के तख़्ते तक लेकर जाया जाएगा, ताकि उस बच्ची को इंसाफ मिल सके, जिसके साथ इन लोगों ने हैवानियत का नाच किया था, वो भी ऐसा की मानवता भी चीत्कार उठी थी.

अब जो खबर सामने आ रही है उसके अनुसार निर्भया के दोषियों को एक साथ फांसी के फंदे पर लटकाने के लिए जेल प्रशासन ने 3 नए फांसी के तख़्त तैयार किए हैं, जबकि एक तख़्त तिहाड़ जेल में पहले से मौजूद था. इस तरह कुल 4 तख़्त अब तिहाड़ जेल में मौजूद है. एक साथ फांसी इसलिए कि एक-एक कर फांसी लगाने में काफी समय लगेगा और चारों दोषियों को फांसी देने में करीब 2 से तीन घंटे लग सकते हैं.

जिस दिन फांसी दी जाती है सामान्यतया उस समय जेल प्रशासन का कोई काम नहीं होता. जिस समय फांसी दी जाती है और जब तक दोषी की मौत न हो जाए, तब तक कोई भी आपस में बात नहीं करता, सब कुछ इशारों में ही होता है.

आख़िर सब कुछ इशारों में क्यों होता है, इस पर हम आपको बाद में बताएंगे. यही कारण है कि ज्यादा समय तक जेल के सामान्य कामकाज प्रभावित ना हो उसके लिए इन चारों दोषियों को एक साथ फांसी के फंदे पर लटकाया जाएगा.

जेल से जो जानकारी हमें मिली है उसके अनुसार इस काम को पूरा करने के लिए जेल के अंदर जेसीबी मशीन भी लगाई गई थी, क्योंकि तीन नए फांसी के तख्ते तैयार करने के लिए यह भी जरूरी होता है कि उनके नीचे एक टनल या कुआं भी बनाया जाए. इसी टनल या कुंए के माध्यम से फांसी के बाद मृत कैदी को बाहर निकाला जाता है. तीन नए फांसी के तख्तों के साथ ही पुराने तख्ते को भी बदल दिया गया है. यानि अब सभी चार नए तख़्त है.

निर्भया के सभी चार दोषियों की स्टेटस रिपोर्ट जेल प्रशासन कोर्ट खुलने पर देगा. कोर्ट 6 जनवरी को खुल रही हैं. तमाम कानूनी प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही इनकी फांसी पर अंतिम फैसला लिया जाएगा.

फिलहाल निर्भया गैंगरेप के चारों कैदियों को तिहाड़ की जेल नंबर-2 और 4 में रखा गया है. जब इन्हें फांसी पर लटकाने की तमाम कानूनी प्रक्रिया पूरी हो जाएगी, उसके बाद कोर्ट से ब्लैक वॉरंट जारी किया जाएगा, उस दौरान इन चारों को जेल नंबर-3 में शिफ्ट किया जाएगा, क्योंकि जेल नंबर-3 में ही फांसी के वो चार तख़्ते या हैंगर हैं.

नीरज सिंह, वरिष्ठ संवाददाता



Post a Comment