कोरोना वायरस से वैश्विक आपात स्थिति नहीं: डब्ल्यूएचओ

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि कोरोना वायरस के मामले में अभी अंतरराष्ट्रीय सार्वजनिक स्वास्थ्य आपात स्थिति की घोषणा नहीं की गयी है. डब्ल्यूएचओ के प्रमुख टेडरोस एडहानोम घेब्रेयासस ने विषाणु को लेकर जिनेवा में दो दिवसीय आपात बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि अंतरराष्ट्रीय सार्वजनिक स्वास्थ्य आपात स्थिति नहीं घोषित कर रहा हूं. उन्होंने कहा कि चीन में यह आपात स्थिति की तरह है, लेकिन यह वैश्विक स्वास्थ्य आपातकाल नहीं बना है. उन्होंने यह भी कहा कि चीन के बाहर इंसानों के बीच वायरस के फैलने का कोई ‘‘प्रमाण’’ नहीं मिला है. डब्ल्यूएचओ ने चीन से कई शहरों में बंद परिवहन सेवा की अवधि को कम करने की अपील की है.

गौरतलब है कि चीन में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 25 हो गई है और गुरुवार तक 830 से अधिक मामलों की पुष्टि हुई है. माना जाता है कि पिछले साल चीन के प्रांत वुहान में कोरोना वायरस की शुरुआत हुई थी.

भारत सरकार के विदेश राज्यमंत्री वी मुरलीधरन ने कहा कि भारत की एक नर्स कोरोनावायरस से पीड़ित पाई गई है और उसका इलाज सऊदी अरब में चल रहा है. हालांकि यह वायरस चीन के शहर वुहान से अलग है. विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने कहा कि पीड़ित नर्स का इलाज असीर नेशनल हॉस्पिटल में चल रहा है और वह स्वस्थ हो रही हैं. विदेश राज्य मंत्री ने बताया कि उन्होंने जेद्दा में भारतीय वाणिज्य दूतावास से संपर्क किया है. हालांकि जेद्दा में भारतीय दूतावास ने यह स्पष्ट किया है कि वह नर्स कोरोनावायरस-सीओवी से पीड़ित हैं. वह 2019-एनसीवो (वुहान) से पीड़ित नहीं हैं.

भारतीय दूतावास ने कहा कि वह सभी से आग्रह करता है कि गलत जानकारी साझा करने से बचें. कोरोनावायरस-सीओवी के पहले मामले की पहचान सऊदी अरब में 2012 में हुई थी, जबकि वुहान का कोरोना वायरस नोवेल वन यानि यह एकदम नया है.



Post a comment