CAA प्रदर्शनकारियों की मदद पर UP पुलिस ने किया गिरफ्तार, लगाया करंट: वकील का आरोप

 
जयपुर 

राजस्थान के वकील मोहम्मद फैजल ने उत्तर प्रदेश पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं. फैजल का आरोप है कि उनको यूपी पुलिस ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) प्रदर्शनकारियों की मदद करने पर फर्जी मामले में गिरफ्तार किया. इसके बाद लॉकअप में डालकर मारपीट की गई और करंट तक लगाया गया. फैजल ने कहा कि अब वह यूपी पुलिस के खिलाफ केस दर्ज कराएंगे.

राजस्थान के कोटा के रहने वाले वकील मोहम्मद फैजल का आरोप है, 'मैं एनसीएचआरओ की तरफ से लोगों की कानूनी मदद के लिए यूपी गया था. हमें पता चला कि कुछ लोगों की अवैध गिरफ्तारी शामली में हुई है. उसी मामले में तथ्यों की जानकारी के लिए और लोगों की मदद के लिए वहां पर गया था. उसी दौरान मेरे साथ यह घटना घटी है.'

पैरवी के दौरान पुलिस ने किया गिरफ्तार

मोहम्मद फैजल ने कहा, 'जब  कैराना कोर्ट के अंदर लोगों को कानूनी मदद दे रहा था. उस वक्त शाम को 5 बजे एसओजी की टीम आती है और वह मुझे गिरफ्तार करके ले जाने लगती है. जब मैं उनका विरोध करता हूं और कहता हूं कि मैं वकील हूं, लेकिन वह (पुलिस) कहते हैं कि इनको गिरफ्तार करके छोड़ देंगे. उसके बाद जब मुझे कैराना थाने लेकर जाते हैं तो वहां पर मैंने उनको राजस्थान बार काउंसिल की आईडी दिखाई तो पुलिस कहती है कि आईडी फर्जी है, आप वकील नहीं है, आप पश्चिम बंगाल से हैं, यहां पर हिंसा फैलाने आए हो.'

फैजल का दावा- UP पुलिस ने किया टॉर्चर

वकील मोहम्मद फैजल ने कहा, 'इसके बाद पुलिस मेरे साथ मारपीट करती है, मानसिक प्रताड़ना देती है, गंदी-गंदी गालियां दी जाती है. मेरी पीठ के पीछे करंट लगाते हैं. एक टॉर्च के जरिए करंट का झटका दिया जाता है. इसके बाद रात को 11 बजे मुझे लॉकअप में डाल दिया जाता है और एक फर्जी एफआईआर दर्ज किया जाता है. इस एफआईआर में दावा किया जाता है कि 20 तारीख को हुए विरोध प्रदर्शन में मैं शामिल था, जो झूठ है. 22 तारीख को दर्ज किए गए एफआईआर के आधार पर मुझे गिरफ्तार करके 24 तारीख को कोर्ट में पेश कर दिया जाता है जहां से मुझे न्यायिक हिरासत में भेज दिया जाता है.'

UP पुलिस पर दर्ज कराएंगे केस

मोहम्मद फैजल ने आरोप लगाया कि उन पर हिंसा फैलाने के अलावा पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के पर्चे बांटने की बात भी कही गई. फैजल ने कहा कि उनका पीएफआई से कोई लेना-देना नहीं है. मेरे खिलाफ वहां पर हिंसा फैलाने का मुकदमा दर्ज किया गया है और जहां तक मेरा केस करने का सवाल है, तो जो भी केस यूपी पुलिस पर बनेगा, मानहानि का हो या उनके खिलाफ प्रताड़ना को हो, वह मैं यहां से केस करूंगा.



Post a comment