CAA पर यूरोपीय संसद में भारत को मिली कूटनीतिक सफलता

नागरिकता संशोधन कानून पर भारत को बड़ी कूटनीतिक जीत मिली है। इस कानून के खिलाफ यूरोपीय संसद में लाए गए प्रस्ताव पर होने वाली वोटिंग अब टल गई है। यूरोपीय संसद में कई सांसदों ने इसे भारत का आंतरिक मामला करार देते हुए मतदान को टालने की बात कही। यूरोपीय संसद में बुधवार को फ्रेंड्स ऑफ पाकिस्तान पर फ्रेंड्स ऑफ इंडिया हावी रहा। यूरोपीयन संसद में इस मामले पर मतदान होना था।

अब मार्च के सत्र में मतदान किया जाएगा। इससे पहले भारत ने यूरोपीय संसद के प्रस्ताव पर प्रतिक्रिया देते हुए अपनी आपत्ति जताई थी।  लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला द्वारा ईयू संसद को लिखे खत में सीएए को भारत का आंतरिक मामला करार देते हुए इसे समुचित प्रक्रिया का पालन कर अपनाने की बात कही गई थी। सूत्रों के मुताबिक सीएए पर भारत के नजरिये को यूरोपीय संघ के सांसदों द्वारा निष्पक्ष और खुले मन से समझने की उम्मीद जताई गई थी।



Post a Comment