कैबिनेट सचिव ने कोरोना वायरस से संबंधित उच्‍च स्‍तरीय समीक्षा बैठक की

नोवेल कोरोना वायरस से निपटने की तैयारियों का जायजा लेने के लिए कैबिनेट सचिव ने कल राजधानी दिल्‍ली में एक उच्‍च स्‍तरीय समीक्षा बैठक की। इसमें स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, विदेश मंत्रालय, गृह मंत्रालय और नागरिक विमानन मंत्रालयों के सचिवों तथा स्‍वास्‍थ्‍य अनुसंधान विभाग और आई.टी.बी.पी, एनडीएमए और एएफएमएस  के प्रतिनिधियों ने हिस्‍सा लिया। कैबिनेट सचिव ने इस संबंध में अबतक छह समीक्षा बैठकें की हैं।

मंत्रालय की ओर से एक नया यात्रा-परामर्श जारी किया गया है जिसमें लोगों से चीन की यात्रा न करने को कहा गया है। अगर यात्रा करनी ही पड़े तो वहां से वापस लौटने पर उन्‍हें अलग निगरानी में रहने का भी परामर्श दिया गया है... 15 जनवरी के बाद चीन की यात्रा करने वाले और आज के बाद से वहां की यात्रा करने वालों को भी निगरानी में रहने का परामर्श दिया गया है।

भारत ने फिलहाल चीनी नागरिकों या चीन से आने वाले अन्य विदेशी यात्रियों की ई-वीजा की सुविधा को अस्थाई रूप से निलंबित कर दिया है। भारत ने ये कदम ऐहतियातन उठाए हैं। अब तक 445 उड़ानों के 58 हजार से अधिक यात्रियों की चिकित्‍सा जांच की जा चुकी है। बीमारी के लक्षण वाले कुल 142 यात्रियों को चिकित्‍सा निगरानी में अलग-थलग रखा जा रहा है। एक सौ तीस रोगियों के नमूने लिये गये है जिनमें से 128 में संक्रमण नहीं पाया गया।

केरल से जिन दो मामलों की पुष्टि हुई है उन रोगियों को डॉक्‍टरी निगरानी रखा गया है और उनकी हालत स्थिर बनी हुई है। वुहान से 330 यात्रियों को लेकर एक और विमान कल भारत पहुंचा। इनमें से तीन सौ को दिल्‍ली में छावला स्थित आई.टी.बी.पी. के कैम्‍प में रखा गया है जबकि बाकी 30 मानेसर में रखे गये हैं। उनके स्‍वास्‍थ्‍य की लगातार निगरानी की जा रही है।

कोरोना वायरस के संक्रमण से झूज रहे चीन में अब तक इस वायरस के 17,205 मामले दर्ज किए गए है। दो दर्जन देशों में 175 से ज्यादा मामले सामने आए है। हालांकि चीन में 475 मरीजों की तबीयत में सुधार दर्ज किया गया है। इस घातक वायरस से अब तक 361 लोगों की मौत हो चुकी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 31 जनवरी को कोरोनावायरस को वैश्विक स्वास्थ्य आपात घोषित किया।

चीन की सरकार इस नाज़ुक घड़ी में लोगों की स्वास्थ्य स्थिति पर लगातार नज़र बनाए हुए है। कोरोनावायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित वुहान में महज़ 8 दिनों के अंदर 1000 बिस्तरों वाला एक अस्पताल तैयार कर दिया गया है, जिसमें आज से लोगों का उपचार शुरू हो गया है। वहीं फिलीपीन्स में भी कोरोना से एक व्यक्ति के मरने की पुष्टि हुई है। चीन से बाहर ये पहला मामला है। 

 



Post a Comment