दुर्गम पहाड़ी ग्राम कुधूर के उप स्वास्थ्य केन्द्र भवन एवं ग्राम पंचायत भवन का श्री कश्यप ने किया लोकार्पण : दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं के बेहतरी के लिए राज्य शासन सजग - श्री चंदन कष्यप

शिविर लगाकर किया गया मरीजों का उपचार, बांटी दवाईयां

विकासखण्ड कोण्डागांव के दूरस्थ पहाड़ी ग्राम कुधूर में आज क्षेत्र के विधायक श्री चंदन कश्यप द्वारा 30.27 लाख लागत के उप स्वास्थ्य केन्द्र भवन एवं 14.15 लाख लागत से निर्मित नवीन पंचायत भवन का लोकार्पण किया गया। इस मौके श्री कश्यप ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए राज्य शासन प्रतिबद्ध है। इस दौरान उन्होंने शासन की खूबचंद बघेल योजना का जिक्र करते हुए ग्रामीणों को बताया कि अब राज्य शासन द्वारा राशन कार्ड (गरीबी रेखा के नीचे) पर 5 लाख तक गंभीर बीमारियों का निःशुल्क इलाज किया जायेगा साथ ही मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की अनुशंसा पर 20 लाख तक अतिगंभीर बीमारियों के निःशुल्क इलाज की व्यवस्था की गई है। इस क्रम में जिले के हॉट बाजारों में स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन इसी की कड़ी है। इससे दूर-दराज से आने वाले ग्रामीणों को उनके गांव के समीप ही रोग उपचार, स्वास्थ्य परीक्षण की सुविधा मिल रही है। उन्होंने ग्रामीणों से आग्रह किया कि मलेरिया मुक्त बस्तर अभियान का ग्रामीण अधिक से अधिक लाभ उठाये एवं मलेरिया जैसे बीमारियों को क्षेत्र में जड़ से मिटाने स्वास्थ्य विभाग के अमले का सहयोग करने के साथ-साथ आसपास, गली-मोहल्लो में साफ-सफाई का विशेष तौर पर ध्यान रखे एवं मच्छरदानी का प्रयोग अवश्य करे। 

उल्लेखनीय है कि चारो ओर से पहाड़ों से घिरा एवं भवरडीह नदी के किनारे बसा यह एक ऐसा ग्राम जो अतिवादी ताकतो एवं जटिल जलवायु समस्याओं से सदैव जुझता रहा है। ऐसे में स्वास्थ्य एक अन्य पहलु है जिसकी वजह से इन्हें दिक्कतो का सामना करना पड़ता था पहले से यहां उप स्वास्थ्य केन्द्र एक झोपड़ीनुमा मकान से संचालित किया जा रहा था। ऐसे में वर्षा ऋतु में इस स्वास्थ्य केन्द्र में प्रसव एवं उपचार की सुविधाऐं दे पाना कठिन कार्य हो जाता एवं उत्कृष्ट स्वास्थ्य सुविधा के लिए ग्रामीणों 15 कि.मी. दूर स्थित मर्दापाल या जिला मुख्यालय तक दुर्गम रास्तो से होकर जाना पड़ता था। ऐसे में विदित हो कि उक्त स्वास्थ्य केन्द्र कुधूर एवं आसपास के 12 सौ से अधिक जनसंख्या एवं 226 परिवारो के मध्य अकेला स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराता रहा है तथा यह सबसेंटर के रुप में 25 सौ लोगो एवं 432 परिवारो को भी लाभान्वित करता रहा है। इस उप स्वास्थ्य केन्द्र में कुल 54 गर्भवती महिला, 45 शिशु पंजीकृत है जिनमें 11 गर्भवती महिलाएं एनीमिया से पीड़ित एवं 7 बच्चे कुपोषण से ग्रसित है। ऐसे में मुख्यमंत्री सुपोषण योजना एवं महिलाओं के स्वास्थ्य की संपूर्ण जांच एवं सुधार का कार्य इस स्वास्थ्य केन्द्र एवं इससे लगे आंगनबाड़ी केन्द्र में तेजी से किया जा रहा है।

इस अवसर पर केन्द्र में कार्यरत स्वास्थ्यकर्मी ने बताया कि भवन प्राप्ति के पूर्व यहां जटिल मौसमो में प्रसव एवं उपचार के कार्यो में भवन न होने के कारण बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता था एवं प्रसव हेतु अलग कक्ष न होने से ग्रामीणों को प्रसव के दौरान इलाज के लिए दिक्कतों का सामना करना पड़ता था, अब ग्राम में नवीन उप स्वास्थ्य केन्द्र भवन बन जाने से ग्रामीणो को बेहतर उपचार सुविधाऐं प्राप्त हो सकेंगी। उक्त कार्यक्रम में श्री कश्यप ने नवीन पंचायत भवन के लोेकार्पण के साथ कृषि विभाग द्वारा 15 कृषको को दिये जा रहे मूंग बीज का वितरण किया साथ ही स्वास्थ्य विभाग ने मौके पर शिविर लगाकर आये लोेगों की जांच कर उपचार के साथ-साथ दवाईयो का भी वितरण किया गया। इस मौके एसडीएम पवन कुमार प्रेमी, सीएमएचओ डॉ.एस.के.कनवर, कार्यपालन अभियंता अरुण शर्मा, अनुविभागीय कृषि अधिकारी उग्रेश देवांगन, सरपंच कुधूर लक्ष्मण कश्यप सहित क्षेत्र के जनप्रतिनिधिगण एवं बड़ी संख्या में ग्रामवासी उपस्थित थे।

Post a comment