मोर जमीन-मोर मकान योजना के तहत पक्के आवास का सपना हो रहा पूरा : नगर पालिका क्षेत्र बैकुण्ठपुर में 293 हितग्राही लाभांवित Mor jamin mor makan

कोरिया 09 मार्च 2020. अपना मकान बनाना हर व्यक्ति का सपना होता है, लेकिन विभिन्न परिस्थितियों के कारण बहुत से लोग स्वयं का मकान नहीं बना पाते हैं या आर्थिक परेशानी मकान बनाने में बाधा डालती है। गरीब तबके की जनता मेहनत मजदूरी कर रोटी और कपड़ा की व्यवस्था तो कर लेती है पर खुद का आशियाना बना पाना मुश्किल हो जाता है। ऐसे में आम जनता को उम्मीद होती है तो शासन-प्रशासन से सहयोग की। लोगों की इन्हीं उम्मीदों को पूरा करने के लिये मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में प्रदेश के साथ-साथ जिले की प्रशासनिक टीम निरंतर कार्य कर रही हैं।
       
राज्य शासन के निर्देशानुसार कलेक्टर श्री डोमन सिंह के मार्गदर्शन में नगर पालिका परिषद बैकुण्ठपुर की टीम नगरीय क्षेत्र में आवासहीनों के लिए तेजी से आवास बनाने का कार्य समर्पित होकर कर रही है। इसी का परिणाम है कि नगर पालिका क्षेत्र बैकुण्ठपुर के अंतर्गत 293 हितग्राहियों को पक्का मकान उपलब्ध करवाया गया है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की मंशा अनुरूप मोर जमीन मोर मकान योजनांतर्गत जिनके पास पक्का मकान नहीं उन्हें पक्का मकान उपलब्ध कराकर लोगों के आवास की समस्या का संवेदनशीलता के साथ समाधान किया जा रहा है। नगर पालिका क्षेत्र बैकुण्ठपुर में आवास पाकर लाभान्वित हितग्राही बहुत उत्साहित हैं। उनका कहना है कि मोर जमीन मोर मकान योजना के अंतर्गत उनका पक्के मकान का सपना पूरा हो गया है। इसके साथ ही जिन हितग्राहियों के पक्के मकान निर्माणाधीन हैं वे भी अपने अशियाने का सपना पूरा होते देख खुश हैं। इसी तरह जिले के अन्य नगरीय निकायों में भी मोर जमीन मोर मकान योजना के अंतर्गत हितग्राहियों को लाभान्वित किया जा रहा है। शासन की मंशा के अनुरूप निर्माणाधीन आवासों का निर्माण यथाशीघ्र पूर्ण कर शेष कच्चे मकान में रह रहे हितग्राहियों को भी पक्का मकान उपलब्ध कराया जाएगा।
       
उल्लेखनीय है कि शहरी क्षेत्रों के परिवार को पक्के आवास उपलब्ध कराने के उद्देश्य से मोर जमीन-मोर मकान योजना संचालित है। इस योजना का लक्ष्य शहरी क्षेत्र में रहने वाले कमजोर आय वर्ग एवं आवासहीन परिवार को मूलभूत सुविधाओं सहित पक्का आवास उपलब्ध कराना है। प्रदेश में यह योजना सभी नगरीय निकायों में क्रियान्वित है।

Post a comment