छत्तीसगढ़ मं नदी जोड़ परियोजना के पहली परियोजना लउहे





रैपुर, 06 अपरेल 2017। देश के पहिली प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी के सपना के परियोजना नदी जोड़ परियोजना उपर छत्तीसगढ़ म काम करे जात हे। इहां नदी जोड़े के पहिली प्रोजेक्ट म जल्दी काम शुरू होवइया हे। बिलासपुर के खारंग अऊ उहां ले 55 किमी दूरिहा ले गुजरइया अहिरन नदी ल चौड़ा नहर बनाके जोड़े जाही। अहिरन के पानी ए हर ले खारंग मं पहुंचही, फेर खूंटाघाट बांध मं भरही। ये बांध खारंग मं पानी के कमी ले पाछू कई बछर ले आधाच भर पावत रहिस हे। ए बांध ले बिलासपुर शहर ल पीये के पानी देहे जा सकही। संगें-संग, तीर-तखार के 48 हजार हेक्टेयर ले जादा खेत मन ल गर्मी मं सिंचाई बर पानी घलोक मिल सकही। दू नदिया ल जोड़इया ये प्रदेश के पहिली प्रोजेक्ट के टेंडर जल्दी होही। एला 2019 तक पूरा करे जाही। जोड़इया नहर बनाए अऊ दूसर इंतजाम मं 334.82 करोड़ रुपया खर्च होए के अनुमान हावे। प्रोजेक्ट प्रधानमंत्री सिंचाई योजना के अंतर्गत पूरा करे जाही। एखर खातिर प्रदेश सरकार हर कुछ महिना पहिली भारत सरकार के जल संसाधन मंत्रालय, नदी विकास अऊ गंगा संरक्षण मंत्रालय ल सर्वे रिपोट भेजे रहिस हे।
ए रिपोट म केंद्र हर अहिरन अऊ खारंग ल जोड़े के प्रोजेक्ट ल मंजूर कर दे हावे। सिंचाई विभाग कोरबा के अमलडीहा गांव मं अहिरन नदी म एक बैराज बनाय जाही। इहां पानी रोके के बाद ओला लिफ्ट करके 55 किलोमीटर लंबी नहर के साथ कोरबा के ही कर्रा नाला मं छोड़े जाही। ए कर्रा नाला ले पानी खारंग नदी होवत खूंटाघाट बांध तक पहुंचही। अहिरन बरसाती नदी आए ते कारन सिरिफ बरसातेच मं पानी लिफ्ट करके खूंटाघाट बांध तक पानी पहुंचाए जाही। एती ए बारे मं जल संसाधन विभाग के सचिव एच.आर. कुटारे के कहना हे कि केंद्र सरकार ले नदी जोड़ परियोजना के तहत अहिरन-खारंग लिंकिंग प्रोजेक्ट ल मंजूरी मिल गे हावे। एखर खातिर केंद्र ले 334.82 करोड़ के मदद घलोक मिलही। योजना तीन साल मं पूरा करे के लक्ष्य दे गए हावे। टेंडर घलव लउहे जारी करे जाही। आप मन ल बदा दन के छत्‍तीसगढ़ के पूर्व विधायक स्‍व. महेश तिवारी ह कामराज के नदी जोड़ योजना उपर बहुत अध्‍ययन करके छत्‍तीसगढ़ म ओला क्रियान्वित करे के कई ठन योजना तत्‍कालीन प्रधान मंत्री अटल बिहारी अउ नदी जोड़ योजना के स्‍वतंत्र प्रभार मंत्री संजय निरूपम ल भेजे रहिस हे। तब छत्‍तीसगढ़ म सिचाई विभाग के आला अधिकारी श्री सुशील त्रिवेदी रहिन अउ मुख्‍यमंत्री अजीत जोगी।


style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="4115359353"
data-ad-format="link">



style="display:block"
data-ad-format="autorelaxed"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="1301493753">

Post a Comment

0 Comments