पेयजल संकटग्रस्त गांव मन मं गर्मी के धान के खेती बर नइ मिलय बिजली: पीये के पानी पहिली प्राथमिकता

रायपुर 06 मई 2017। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह हर अधिकारी मन ले कहे हें कि सूखा प्रभावित इलाका मन मं पेयजल संकट वाले गांवों मं कहूं गर्मी के मौसम मं धान के खेती बर विद्युतीकृत सिंचाई पम्प मन के उपयोग करे जात हे तो अइसन सिंचाई पम्प मन के बिजली के कनेक्शन तुरंते काट दे जाय। उमन कहिन कि राज्य सरकार हर जिला कलेक्टर मन ल एकर अधिकार दे हावे। मुख्यमंत्री आज मंझनिया बेमेतरा जिला के ग्राम झाल मं लोक सुराज अभियान के तहत आयोजित लोक समाधान शिविर मं जनता ल सम्बोधित करत रहिन। डॉ. सिंह हर कहिन- मोला बताय गीस कि ए जिला के सूखा प्रभावित इलाका मन के कुछ गांव मन मं किसान गर्मी के धान बर विद्युतीकृत सिंचाई पम्प मन के सहारा पानी लेवत हें।
उमन कहिन - गर्मी के धान के खेती मं पानी बहुत जादा लगथे अऊ भू-जल स्तर मं गिरावट आथे। ओखर प्रभाव हैण्डपम्प अऊ नलजल योजना मन के नलकूप मन म घलोक परथे। उमन एला ध्यान मं रखके किसान मन से गर्मी के मौसम मं धान के खेती नइ करे अऊ रबी के दुसरा फसल लगाय के अपील करिन। उमन कहिन - मैं ह पहिली घलोक कई पइत अपील करे हंव। मुख्यमंत्री हर कहिन- ये मौसम मं पेयजल समस्या के निराकरण बर सिंगल फेस पॉवर पम्प अऊ सोलर पंप स्थापित करे के निर्देश जिला कलेक्टर मन ल दे गए हावे। उमन ऊर्जा विभाग अऊ लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारी मन ल घलोक ए मौसम मं खास तौर म मुस्तैद रहे के निर्देश हेहे हें। उमन शिविर मं प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत 46 महिला मन ल रसोई गैस कनेक्श के वितरण करिन। डॉ. सिंह हर प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पात्रता रखइया 321 परिवार मन ल पक्का मकान स्वीकृत करे बर जिला प्रशासन ल जल्दी कार्रवाई करे के निर्देश दीन।
जनता ल सम्बोधित करत मुख्यमंत्री हर कहिन- योजना मन के जादा ले जादा लाभ जरूरतमंद लोगन तक पहुंचाना अऊ आम जनता के जीवन मं गुणात्मक बदलाव लाना, लोक सुराज अभियान के मुख्य उद्देश्य हे। उमन कहिन कि अभियान के स्वरूप मं ए बार कुछ बदलाव करत करत ये मां जन समस्या के समाधान ल लक्ष्य बनाय गए हे। मुख्यमंत्री हर अधिकारी मन ले कहिन कि जिला मं मनरेगा के तहत ग्रामीण मन बर जादा ले जादा रोजगारमूलक काम संचालित करे जाय, संगें संग ये घलोक सुनिश्चित करव कि मनरेगा मं श्रमिक मन के भुगतान बकाया मत रहे।

Post a Comment

0 Comments