घोटाला के आरोप मं फंसिस भूपेश बघेल : गरीबी के एफीडेविट देके कबजियाईस प्‍लाट

रायपुर। जमीन घोटाला मामला मं छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल के खिलाफ आर्थिक अपराध शाखा हर मामला दर्ज कर लेहे हे। ईओडब्‍लू हर 120बी, 13(1), 13(2) के तहत अपराध पंजीबद्ध करे हे, पत्रिका समाचार पत्र ह 420 दर्ज करे के समाचार तको छापे हे फेर ये संबंध म अभी पुष्टि नई होए हे। भूपेश उपर गरीब मन बर आरक्षित जमीन ल अवैध तरीका ले अपन मां अऊ अपन पत्नी के नाम आबंटित कराए के आरोप हे। बताय जात हे कि भिलाई-3 के मानसरोवर सोसाइटी मं जऊन समय जमीन के आवंटन करे गीस, ओ समय भूपेश बघेल विधायक होए के सेती, साडा के मानद सदस्य रहिस हे। उंखर उपर आरोप लगाए जात हे कि वो मन अपन प्रभाव के उपयोग करके निम्‍न आय वर्ग बर आरक्षित 8 हजार 137 वर्गफुट प्लाट ल अपन पत्नी अऊ मां के नाम आवंटित करा लीस। पत्नी मुक्तेश्वरी बघेल के नाम से 4 हजार 68 वर्गफुट अऊ मां बिंदेश्वरी बघेल के नाम म 4 हजार 68 वर्गफुट जमीन आवंटित करे गए हे।
विधान मिश्रा हर दुर्ग मं कागद के हवाला देवत हुए कहा था कि जांच रिपोट मं ये स्पष्ट तौर म उल्लिखित हे कि जऊन एक दर्जन प्लाट ल भूपेश के परिजन मन ल आवंटित करे गए रहिस, ओखर आवंटन के प्रस्ताव साडा के बोर्ड के आघू पेशेच नइ करे गए रहिस। बिना बोर्ड के इजाजत के ए प्लाट मन के आवंटन करे गए रहिस। भूपेश के पत्नी अऊ मां के नाम 28 मार्च 1995 को साडा मं आवेदन लगे रहिस। जऊन दिन आवेदन लगिस ओहिच दिन मुक्तेश्वरी बघेल के नाम 31 हजार रुपया अऊ बिंदेश्वरी बघेल के नाम 44 हजार रुपया जमा घलोक करा दे गीस। राशि जमा करे के 11 वें दिन प्लाट के आवंटन घलोक कर दे गीस। आरोप हे कि भूपेश बघेल के राजनीतिक दबाव के सेती सब काम फटा-फट करे गीस।
8 दिसबंर 2014 को राज्य वित्त आयोग के पहिली अध्यक्ष वीरेन्द्र पांडे अउ भूपेश बघेल के भतीजा विजय बघेल ह ए मामला के शिकायत सरकार से करे रहिन। सरकार हर वो समें के दुरूग कलेक्‍टर से शिकायत के जांच करे ल कहे रहिस। तत्कालीन एडीएम सुनील जैन के अध्यक्षता वाले कमेटी मं राजस्व अधिकारी नगर निगम भिलाई एच.के.चंद्राकर अउ प्रभारी संयुक्त संचालक नगर अउ ग्राम निवेश विनीत नायर सामिल रहिन। तत्कालीन कलेक्टर हर 9 अप्रैल 2015 को जांच रिपोट शासन ल सौंप दे रहिन हे।
आरोप येहू हे कि निम्‍न आय वर्ग बर आरक्षित प्लाट के आरक्षण म बदलाव करे के आधिकार सिरिफ राज्य शासन ल हे, फेर साडा ह येमा बदलाव घलोक कर दीस। खबर एहू हवय के जमीन बर आवेदन करइया मुक्तेश्वरी बघेल अऊ बिंदेश्वरी बघेल हर खुद के आय 25-25 हजार रुपए सालाना दर्शाए हें अउ गरीब होए के शपथ पत्र देहे गए हे। भूपेश मन दाउ यें अउ उंखर खेती-किसानी ले होवईया इनकम एखर ले जादाच रहिस होही। तभो ले उमन अइसन झूठा शपथ पत्र पेश करे हें, अइसे आरोप लगे हे।

Post a Comment

0 Comments