राज्य बजट से लोक निर्माण विभाग कोति ले बने पुल मन म टोल वसूली नइ होवय


  • मुख्यमंत्री हर दीस निर्देश

  • प्रदेश के एक हजार ले जादा पुल मन मं यात्री वाहन अऊ माल वाहन मन ल मिलही एकर फायदा






रायपुर 22 मई 2017। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह हर लोक निर्माण विभाग ल राज्य बजट ले बने पुल मन म टोल टैक्स खतम करे के निर्देश देहे हे। उमन आज इहां अपन निवास कार्यालय मं आयोजित लोक निर्माण विभाग के समीक्षा बैठक मं अइसन पुल मन म टोल वसूली खतम करे के निर्देश दीन जेमा अभी हाल मं पांच लाख रूपया सालाना वसूली के प्रावधान हे। मुख्यमंत्री के ए घोषणा ले राज्य के एक हजार ले जादा पुल मन म यात्री वाहन अऊ माल वाहन मन ल एकर लाभ मिलही।
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व मं राज्य सरकार के लोक निर्माण विभाग हर साल 2004 ले 2017 तक करीबन तेरह साल मं 965 नग पुल मन के निर्माण करे हे। एखर पहिली छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के पहिली तीन साल मं साल 2000 ले साल 2003 तक 66 नग अऊ राज्य निर्माण के पहिली 1978 से सन 2000 तक 22 साल म 89 नग पुल लोक निर्माण विभाग ह बनाए हे।
डॉ. सिंह हर लोक निर्माण विभाग ले अइसन पुल मन ल टोल टैक्स से फ्री रखे के प्रस्ताव म तुरंते अपन सहमति प्रदान कर दीस, जकर मात्र पांच लाख रूपया के सालाना टोल वसूली मं व्यवहारिक दिक्कत आत हे। उमन विभागीय अधिकारी मन ले पूछिन कि अभी हाल मं अइसन पुल मन ले कतका टोल मिलत हे। अधिकारी मन बताइन कि सिरिफ 11 करोड़ रूपया सालाना मिलत हे। डॉ. सिंह हर ए राशि ल बहुत कमती बतात कहिन कि जनता के सुविधा बर ए प्रकार के पुल मन म टोल खतम करना ही उचित होही। समीक्षा के समय विभाग के तरफ से बताय गीस कि साल 2007-08 मं 32 पुल मन म जेकर टोल वसूली के राशि सालाना 5 लाख रूपया ले कम रहिस, वोमा पथकर वसूली नइ करे जाय।
मुख्यमंत्री हर आज अंदाजन तीन घंटा तक लोक निर्माण विभाग के जम्‍मो कार्य मन के विस्तृत समीक्षा करिन। उमन विशेष रूप ले वो निर्माण कार्य मन ल बेरा म पूरा करे के जरूरत म बल दीन, जेकर खातिर अभी हाल साल 2017 अऊ अवइया साल 2018 मं जून तक समय-सीमा तय करे गए हे। बैठक मं लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री अमन कुमार सिंह, वित्त विभाग के प्रमुख सचिव श्री अमिताभ जैन, लोक निर्माण विभाग के सचिव श्री सुबोध कुमार सिंह, छत्तीसगढ़ सड़क विकास निगम के प्रबंध संचालक श्री अनिल राय, लोक निर्माण विभाग के प्रमुख अभियंता श्री डी.के. प्रधान अऊ आन संबंधित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहिन। लोक निर्माण सचिव श्री सुबोध कुमार सिंह हर विभागीय कार्य मन के प्रस्तुतिकरण दीन। उमन बताइन कि प्रदेश मं छत्तीसगढ़ सड़क विकास निगम ले 27 सड़क मन के प्रोजेक्ट हाथ मं लेहे गए हे, जेकर लम्बाई 889 किलोमीटर हे। इंखर निर्माण बर 3238 करोड़ रूपया के प्रशासकीय स्वीकृति प्राप्त हो गे हे। एमां ले 648 किलोमीटर के 22 सड़क मन बर एजेंसी घलोक तय हो गए हे। इंखर लागत 2182 करोड़ रूपया हे। कई सड़क मन के निर्माण प्रगति म हावे। एशियन विकास बैंक (ए.डी.बी.) के ऋण सहायता के दूसर चरण मं 2200 करोड़ के 18 सड़क मन के निर्माण चलत हे। निगम ले 856 किलोमीटर सड़क मन बर 2211 करोड़ रूपया के अनुबंध करे गए हे। एमां ले 511 किलोमीटर के सड़क मन अऊ 1410 पुल-पुलिया मन के निर्माण पूरा कर ले गए हे। ए.डी.बी. के तीसर चरण बर छत्तीसगढ़ सड़क विकास निगम ले अंदाजन 5500 करोड़ रूपया के ऋण प्रस्ताव तैयार करे गए हे। ए राशि ले 38 सड़क मन के निर्माण करे जाना हावे। मुख्यमंत्री हर अधिकारी मन ल एखर खातिर एशियन विकास बैंक (ए.डी.बी.) ले जल्दी चर्चा करे अऊ प्रस्तावित काम योजना ल आखरी रूप देहे के निर्देश दीन।
मुख्यमंत्री के संयुक्त सचिव श्री रजत कुमार हर ए अवसर म प्रस्तुतिकरण मं बताइन कि राज्य सरकार हर मुख्यमंत्री डैश बोर्ड ल लगभग तैयार कर ले हावे, जेमां सब्बो विभाग मन के निर्माण कार्य के स्वीकृति ले लेके निर्माण के प्रगति के ताजा स्थिति के जानकारी ऑन लाइन आसानी ले मिल सकही। निर्माण विभाग मन के मंत्रि अऊ सचिव मन ले लेके प्रमुख अभियंता अऊ उप अभियंता तक मोबाइल एप के जरिये ए डैश बोर्ड ले जुरे रहिहीं। मुख्यमंत्री खुद डैश बोर्ड म अइसन निर्माण कार्य म न के प्रगति के समीक्षा करके ओमा ऑन लाइन अपन रिमार्क घलोक दे सकही।





Post a Comment

0 Comments